10 घंटे तक क्या ढूंढती रही सीबीआइ की टीम

सुबह आठ बजे पहुंची टीमेें और संभाल लिया अपना-अपना मोर्चा

By: rishi jaiswal

Published: 23 Aug 2020, 12:40 AM IST

मुरैना. बैंक लोन फ्रॉड मामले में सीबीआइ की टीमों के छापे की खबर शहर में दिन भर चर्चा का विषय रही, खास तौर व्यापारिक जगत में। हालांकि व्यावसायिक गतिविधियों से जुड़े लोगों को लोन के बारे में तो जानकारी थी, लेकिन किसी को यह उम्मीद नहीं थी कि मामला सीबीआइ तक पहुंच जाएगा।

हल्की बारिश के बाद सुबह करीब आठ बजे से सीबीआइ की टीमें जीवाजी गंज पहुंचीं। किसी को संदेह न हो इसलिए उन्होंने अपने वाहन जीवाजी गंज पार्क के पहले ही छोड़ दिए। फाइलें लेकर अधिकारी घूमते रहे और पार्क परिसर के एक कोने में बाउंड्री के सहारे खड़े होकर बतियाते रहे। जैसे ही टीमें केएस कोठी के अंदर घुसीं वैसे ही मोबाइल पर सूचनाओं का आदान-प्रदान होने लगा। पहले तो चर्चा थी कि ईडी का छापा है, लेकिन तुरंत ही सीबीआइ मुख्यालय का स्टिकर लगा एक वाहन केएस कार्यालय के बाहर जाकर खड़ा हो गया। टीम ने जैसे ही अंदर प्रवेश किया अनावश्यक सभी लोगों को बाहर कर दिया। बाहर से भी लोगों ने अंदर प्रवेश का प्रयास किया लेकिन सीबीआइ के अधिकारियों ने किसी को इजाजत नहीं दी। सीबीआइ की टीम पिछले डेढ़ साल में तीसरी बार मुरैना आ चुकी है। ऐसे में लोगों को लग रहा था कि कुछ और जगह छानबीन या कार्रवाई हो सकती है, लेकिन टीम ने करीब 10 घंटे तक केएस ऑयल पर छानबीन की। इसके पहले वर्ष 2010 में आयकर विभाग ने भी कार्रवाई की थी।

डेढ़ साल में तीसरा मामला

सीबीआइ का पिछले करीब डेढ़ साल में यह तीसरी कार्रवाई है। इसके पहले दो बार वेयर हाउस लोन घोटाले में भी यहां एक दर्जन से अधिक स्थानों पर छापामार कार्रवाई की जा चुकी है।

सीबीआइ ने डाला अधिकृत वेबसाइट पर

मुरैना सहित दिल्ली में छापामार कार्रवाई को सीबीआइ ने अपनी अधिकृत लेटर को अपनी वेबसाइट पर डाल दिया है। 938.81 करोड़ रुपए के बैंक लोन फ्रॉड मामले में सीबीआइ ने प्रकरण भी दर्ज कर लिया है।

एक नजर

-सीबीआइ की टीम ने कार्यालय से बाहर निकाला अनावश्यक लोगों

-लोगों के लाख प्रयास के बाद भी नहीं मिला किसी को प्रवेश

-सीबीआइ की टीम ने करीब दस घंटे तक की मिल में छानबीन

-2010 में मिल पर आयकर विभाग ने की थी कार्रवाई

-सीबीआइ टीम के सदस्य न किसी से बोले न किसी से की बात

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned