scriptChild dies after being crushed by milk tanker, highway jam | दूध के टैंकर से कुचलकर बालक की मौत, हाइवे जाम | Patrika News

दूध के टैंकर से कुचलकर बालक की मौत, हाइवे जाम

- सडक़ पार करते समय मारी बालक को टक्कर, ग्रामीणों ने की ब्रेकर बनाने की मांग

 

मोरेना

Published: February 24, 2022 07:01:02 pm


मुरैना. दिमनी थाना क्षेत्र में नेशनल हाइवे पर रतीराम पुरा के सामने सडक़ पार कर रहे बालक को दूध के टैंकर ने कुचल दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। चालक टैंकर को मौके पर छोडक़र स्वयं फरार हो गया। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने मौके पर जाम लगा दिया। पुलिस पहुंची लेकिन शव को उठाने नहीं दिया। आक्रोशित लोगों की मांग थी कि चालक को हमारे हवाले किया जाए और गांव के सामने सडक़ ब्रेकर बनाया जाए। समझाने के उपरांत पौन घंटे बाद जाम खोल दिया। उसके बाद शव को पीएम के लिए ले जाया गया। दिमनी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दूध के टैंकर को जब्त कर थाने में रख दिया है और चालक की तलाश की जा रही है।
जानकारी के अनुसार करुआ (०७) पुत्र धर्म सिंह तोमर निवासी रतीराम पुरा थाना दिमनी गुरुवार की दोपहर करीब सवा बजे सडक़ पार कर रहा था तभी अंबाह की तरफ से आ रहे दूध टैंकर के चालक ने गाड़ी को तेजी व लापरवाही से चलाकर बालक को कुचल दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। आक्रोशित लोगों ने डेढ़ बजे नेशनल हाइवे क्रमांक ५५२ पर बच्चे के शव को सडक़ पर रखकर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने सडक़ टै्रक्टर ट्रॉली व पत्थर भी रख दिए थे। करीब सवा दो बजे पुलिस के समझाइश के बाद जाम खुला। दिमनी पुलिस टैंकर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर रही है।
दूध के टैंकर से कुचलकर बालक की मौत, हाइवे जाम
दूध के टैंकर से कुचलकर बालक की मौत, हाइवे जाम
यहां हर समय रहता है दुर्घटना का डर
नेशनल हाइवे पर रतीराम पुरा के अलावा दिमनी, रानपुर मोड़, बडफ़रा, खुर्द, घुसगंवा सहित कुछ ऐसे गांव हैं जो सडक़ के दोनों तरफ बसे हैं वहां अक्सर दुर्घटना का डर रहता है। क्योंकि यहां बच्चे, महिला व वृद्ध अक्सर इधर से उधर क्रॉस करते हैं और सडक़ नए सिरे से बन चुकी है इसलिए वाहन तेजी से निकलते हैं और लोग इन वाहनों की चपेट में आ जाते हैं।यहां हर समय रहता है दुर्घटना का डर
नेशनल हाइवे पर रतीराम पुरा के अलावा दिमनी, रानपुर मोड़, बडफ़रा, खुर्द, घुसगंवा सहित कुछ ऐसे गांव हैं जो सडक़ के दोनों तरफ बसे हैं वहां अक्सर दुर्घटना का डर रहता है। क्योंकि यहां बच्चे, महिला व वृद्ध अक्सर इधर से उधर क्रॉस करते हैं और सडक़ नए सिरे से बन चुकी है इसलिए वाहन तेजी से निकलते हैं और लोग इन वाहनों की चपेट में आ जाते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.