दिग्गज विधायक सहित 637 लोग होम क्वारेंटीन में, चंबल में खलबली

कोरोना वायरस के कहर के चलते एक दिन में 393 लोगों को किया क्वारेंटीन

रविंद्र कुशवाह की रिपोर्ट @ मुरैना
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन पूरे प्रयास कर रहा है। जिले भर में ऐसे लोग जो विदेश,बाहर से अन्य महानगर अर्थात जहां वायरस का संक्रमण फैल रहा है,वहां से आए हैं,उन पर विशेष नजर बनाए हुए हैं। ऐसे लोग जो बाहर से आए थे और उनको होम क्वारेंटीन किया गया है, उनकी संख्या मंगलवार तक 244 थी, वह बढ़कर बुधवार को 637 हो गई है अर्थात एक दिन में 393 लोगों को क्वारेंटीन किया गया हैं। इसमें 18 लोग ऐसे हैं जो विदेश से आए हैं। इसमें सबलगढ़ विधायक बैजनाथ कुशवाह भी शामिल हैं।

बताया गया है कि 20 मार्च को मुख्यमंत्री कमलनाथ की भोपाल में पत्रकारवार्ता थी। उसमें एक व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव उपस्थित रहा था। इसमें सबलगढ़ विधायक कुशवाह भी मौजूद रहे थे। इसलिए उनको होम क्वारेंटीन किया गया है। वहीं हाइवे स्थित मल्टी में एक निजी स्कूल में टीचिंग के लिए दो लोग बाहर से आए हैं। जहां से ये स्टाफ आया है वहां कोरोना वायरस को संक्रमण फैल रहा है इसलिए इनको होम क्वारेंटीन किया गया है और मल्टी के बाहर इस बात की जानकारी चस्पा भी की गई है। वहीं फाटक बाहर बीस लोग मुुम्बई से मुरैना वापस आए हैं। इनमें ज्यादातर महिलाएं हैं। इनको भी होम क्वारेंटीन किया गया है। मुरैना शहर में करीब ढाई सौ लोग हैं जो बाहरी शहरों से जॉब पर या घूमकर लौटे हैं, उन पर प्रशासन की विशेष निगरानी हैं। इनकी निगरानी के लिए बुधवार को एक टीम भ्रमण करती रही और यह चेक कर रही थी कि ये लोग घर पर ही हैं या फिर बाहर तो नहीं घूम रहे।

दिग्गज विधायक सहित 637 लोग होम क्वारेंटीन में, चंबल में खलबली

प्रशासन ने मजदूरों को वापस भेजा पंप पर
जौरा में परसोटा के चौराहे पर पेट्रोल पंप का निर्माण कार्य चल रहा है। वहां पर टीकमगढ़ की लेवर काम कर रही थी। चूंकि काम बंद हो गया था इसलिए लेवर के लोग मुरैना जा रहे थे, क्योंकि उनके साथी मुरैना में रह रहे थे। वह टेलीफोन एक्सचेंज के पास से गुजर रहे थे तभी तहसीलदार व राजस्व टीम मौके पर पहुंची और उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि जब काम ही नहीं रहा तो क्या खाएंगे। तब प्रशासन ने उनके लिए राशन पानी की व्यवस्था करवाई और वहीं पंप पर उनको रोका गया है।

दिग्गज विधायक सहित 637 लोग होम क्वारेंटीन में, चंबल में खलबली

गुजरात से आए राजस्थान के लोगों को बैरियर पर रोका
राजस्थान के एक दर्जन लोग गुजरात के सूरत शहर से लौट रहे थे तभी मुरैना में बैरियर चौराहे पर उनके ऑटो रोक लिए। ये लोग तीन ऑटो से वापस अपने घर जा रहे थे। ये लोग सूरत में फैक्ट्री में काम करते थे, इनमें से कुछ वहां ऑटो चलाते थे। चंूकि वाहन बंद हैं इसलिए अपने ऑटो से घर लौट रहे थे। इनको जिला अस्पताल ले जाया गया। इनका चेकअप किया और उसके बाद रवाना कर दिया।


फाटक बाहर उमड़ी भीड़, संक्रमण का खतरा
देश भर में 21 दिन का लॉक डाउन बढ़ाने के आदेश के बाद ही सुबह लोग अपने अपने घरों से थैला लेकर निकले। उनको लगा कि फिर बाजार खुला या नहीं। इसलिए कुछ दिन के लिए राशन की व्यवस्था कर लें। देखते ही देखते कुछ ही देर में फाटक बाहर किराना की दुकान व सब्जी की दुकानों पर एक साथ झुंड में लोग सैकड़ों की संख्या में दिखाई दिए। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। चंूकि कार्रवाई के चलते पुलिस का मनोबल गिरा हुआ है इसलिए सख्ती में ढील रही और लोग मनमाने ढंग से घूमते नजर आए।

coronavirus
Show More
monu sahu Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned