कोरोना अलर्ट: स्टेशन पर यात्रियों का चेकअप शुरू, आज से बॉर्डर निगरानी

बस में तीन की सीट पर बैठेगी एक सवारी

कोरोना अलर्ट: स्टेशन पर यात्रियों का चेकअप शुरू, आज से बॉर्डर निगरानी
- बस में तीन की सीट पर बैठेगी एक सवारी
फोटो २००३२० मोर ६- धर्म गुरु व अन्य लोगों की बैठक लेती कलेक्टर
७- टाउन हॉल में आयोजित बैठक में उपस्थित बस ऑपरेटर्स
मुुरैना. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है और लोगों से जागरुक व ऐतिहात बरतने की सलाह दी है। कलेक्टर प्रियंका दास ने तमाम दिशा निर्देश धर्म गुरुओं व बस ऑपरेटर्स की बैठक में दिए हैं। उन्होंने रेलवे स्टेशन पर चेकअप शुरू करवा दिया है जो भी यात्री टे्रंन से उतरकर शहर में आ रहा है, उसका पहले स्टेशन पर चेकअप होगा। यहां एसडीएम आर एस बाकना, सीएमएचओ सहित टीम ने स्टेशन पहुंचकर स्थिति को देखा। वहीं शनिवार से बॉर्डर पर निगरानी शुरू हो जाएगी। प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। जो भी बाहर से मुरैना शहर में प्रवेश करेगा, उसकी पूरी डिटेल नोट की जाएगी, वह कहां से आ रहा है और कहां जा रहा है, उसका भी नाम पता भी लिखा जाएगा।
कलेक्टर ने विभिन्न धर्मगुरूओं, विभिन्न वर्गों के लोंगो की बैठक में कहा कि महामारी को लोग हलके में न लें। इससे सावधानी बरतें और बहुत आवश्यक हो, तभी घर से निकलें। विभिन्न कार्यक्रम जैसे शादी, बर्थडे, सगाई या पिकनिक जैसे कार्यक्रम को स्थगित करें। कलेक्टर कहा कोरोना वायरस से सावधान रहें, बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सूचना टोलफ्री नम्बर पर उपलब्ध करावें। अगर किसी के आस-पास में भारत से बाहर से व्यक्ति आये तो उसकी सूचना तत्काल दें। उस व्यक्ति को 14 दिन तक हॉम आईसुलेशन दिये जायेगा। भले ही उसमें कोरोना वायरस के लक्षण न हों। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को एक मीटर की दूरी पर सावधानी बरतना है। अधिकतर 65 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों को घर से बाहर नहीं निकलनें दें। कोरोना वायरस से घबरायें नहीं। बल्कि सावधानी ही बहुत जरूरी है। ंकलेक्टर दास ने कहा कि मास्क हर व्यक्ति को उपयोग नहीं करना चाहिये, क्योंकि अधिक समय तक मास्क लगाने से व्यक्ति के शरीर में ऑक्सीजन लेने की क्षमता कम हो जाती है, मास्क वे ही लोग लगायेंगे जैसे कि डॉक्टर्स, स्टॉफ नर्स को लगाने आवश्यक है। क्योंकि वे पूरे समय विभिन्न प्रकार के मरीजों का परीक्षण करते है या मास्क वो लोग उपयोग करें, जिन्हें सर्दी, खांसी, जुखाम की शिकायत हो, जिसके छींकने से वायरस दूसरे व्यक्ति पर न पहुंचे या ऐसे व्यक्ति मास्क का उपयोग कर सकते है जो भीड-भाड़ वाले इलाके में जा रहे हो।
सवारी के बीच एक मीटर का डिसटेन्स, एक सीट पर एक सवारी विठायें
नोवेल कोरोना वायरस से बचने के लिए मुख्य सचिव कार्यालय भोपाल से उप सचिव संजीव श्रीवास्तव ने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश जारी किये है कि बसों में यात्रियों के बीच की दूरी 1 मीटर हो, इसके लिए जिला प्रशासन सख्ती से पेश आये। इस संबंध में कलेक्टर प्रियंका दास ने शुक्रवार को टॉउन हॉल मुरैना में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी व नगर निगम कमिश्नर के सहयोग से बस ऑपरेटरों एवं टेम्पू संचालकों की बैठक आयोजित की। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि नोवेल कोरोना वायरस तेज गति से वृद्वि कर रहा है, इससे बचने के लिए व्यक्ति से व्यक्ति की दूरी एक मीटर होना अनिवार्य है। व्यक्ति की रोज मर्रा को ध्यान में रखते हुये उसको आना-जाना भी जरूरी है। इसके लिए बस ऑपरेटर की बस यानी 32 सीटर है तो उसमें 1 मीटर का डिसटेन्स यानी एक सीट पर एक यात्री बिठायें। जिससे यात्रियों में एक मीटर का डिसटेन्स हो जायेगा। इसी प्रकार ऑटो रिक्शा यानी ई-रिक्शा में चार सवारियां बिठाई जाती है, जिसमें मात्र पिछली सीट पर एक सवारी ही विठायें। आरटीओ विभाग द्वारा चैकिंग दल गठित कर दिये गये है। यह दल कल से अपना कार्य प्रारंभ कर देंगे। आदेश का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
अमेरिका लौटे चिकित्सक, न आइसोलेशन और न प्रशासन को सूचना, कर रहे हैं इलाज
शहर में प्रशासन व स्वास्थ्य महकमां आए दिन कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम के लिए तमाम तरह की जागरुकता व ऐहतियात बरत रहा है और लोगों को एलर्ट रहने की अपील कर रहा है लेकिन शहर के मिल एरिया रोड स्थित निजी अस्पताल के संचालक डॉ. राकेश गुप्ता हड्डी रोग विशेषज्ञ करीब दो सप्ताह अमेरिका में रुककर मुरैना लौटे हैं। इन्होंने न होम आइसोलेशन लिया और न प्रशासन को सूचित करना उचित समझा बल्कि पिछले करीब दस दिन से अपने अस्पताल में रोजाना सैकड़ों मरीजों को चेकअप, इलाज व ऑपरेशन कर रहे हैं। अगर इनको संक्रमण हुआ तो न जाने कितने लोगों तक संक्रमण पहुंचेगा, इसका अंदाजा नहीं हैं। लेकिन यह बिडंवना हैं कि ये महाशय चिकित्सक जैसे पेशे में होकर अनपढ़ जैसा वर्ताव कर रहे हैं। प्रशासन को चाहिए इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करे।
अर्जेंटीना से लौटे युवक युवती घूम रहे हैं खुले में
शहर में मुरैना टॉकीज के पास स्थित एक मल्टी में रह रहे परिवार के एक युवक व युवती अर्जेंटीना में पढ़ते थे। वह मुरैना आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग ने उनको होम आइसोलेशन दिया है। लेकिन यह दोनों घर में न रहते हुए खुले में बाजार घूमते नजर आ रहे हैं। इसके चलते उस मल्टी में रह रहे परिवारों में भय व्याप्त है। महामारी नोडल अधिकारी डॉ. अल्पना सक्सैना ने बताया कि दोनों युवक युवतियों को चेकअप किया है अभी संक्रमण मुक्त हैं लेकिन फिर भी उनको होम आइसोलेशन में रखा है।
जश्न में भूले कोरोना संक्रमण को, पुलिस भी रही मूंकदर्शक
फोटो २००३२० मोर ८- हनुमान चौराहे पर जश्न मनाते भाजपाई
प्रशासन लगातार ऐहतियात बरतने की सलाह दे रहा है। लेकिन आम लोग गंभीरता से नहीं ले रहे। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश सरकार गिरने और भाजपा को मौके मिलने की उम्मीद को लेेकर हनुमान चौराहे पर मिष्ठान वितरण ढोल नगाड़े के साथ खुशी का इजहार किया। लेकिन खुशी व जश्न के चलते भाजपाई कोरोना वायरस के संक्रमण को भूल गए। जहां प्रशासन भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आए दिन जागरुक कर रहा है वहीं भाजपा के जश्न में जमकर भीड़ उमड़ती रही और तीन मीटर का फासला तो दूर एक दूसरे के गले मिलते रहे। खास बात यह है कि पुलिस भी बड़ी संख्या में खड़ी थी उन्होंने रोकना तो दूर उनको समझाइश तक नहीं दी।
कथन
- चिकित्सक अमेरिका से लौटकर आए हैं, इसकी जानकारी अभी हमको मिली है। हम पता करवा रहे हैं अगर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को सूचना नहीं दी है और आइसोलेशन में नहीं रहे हैं तो गंभीर मामला है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
प्रियंका दास, कलेक्टर, मुरैना
- राजनैतिक कार्यक्रमों में भीड़ का उमडऩा गंभीर मामला है। हम शीघ्र ही राजनैतिक संगठनों के प्रमुखों को बुलाकर उनको समझाइश देंगे कि आगामी समय में भीड़ के कार्यक्रम न करें।
डॉ. असित यादव, पुलिस अधीक्षक, मुरैना

Ashok Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned