माफिया का दुस्साहस, नहर किनारे लगाए रेत के डंप

नहर पर मकान बनाकर बाउंड्री नहर तक कर दी

By: rishi jaiswal

Published: 02 Aug 2020, 11:33 PM IST

मुरैना. अंबाह ब्रांच केनाल पर सिकरौदा की पुलिया से लेकर चिन्नोंनी बर्रेंंड तक दर्जनों स्थानों पर अतिक्रमण कर लिया है। अतिक्रमणकारियों ने कई जगह रेत डंप कर लिया तो कुछ स्थानों पर बाउंड्री कर ली गई। विभाग को जानकारी है लेकिन कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।

सिकरौदा नहर की पुलिया (डीआरबी) पर एक व्यक्ति ने नहर की जगह पर मकान व दुकान बनाकर अतिक्रमण कर लिया है। वहीं जताबर का पुरा नहर पर एक व्यक्ति ने मकान बनाकर बाउंड्री नहर तक कर दी है और उसकी नाली का निकास सीधा नहर में किया गया है। नंद पुरा की पुलिया के पास स्थायी रूप से एक व्यक्ति ने मकान का निर्माण कर लिया है। इसके अलावा गुढ़ाचंबल, बरहाना, नंदपुरा, बिंडवा, देवगढ़, ल्हौरी का पुरा, पंचम पुरा सहित चिन्नोंनी बर्रेंड तक नहर की एक साइड जो कच्ची है, उस पर हजारों ट्रॉली चंबल का रेत डंप करके अतिक्रमण कर लिया है। विभागीय अधिकारियों को अपडाउन से फुरसत नहीं हैं। अधिकारियों की गाड़ी ग्वालियर मुरैना दौड़ रही हैं और उनके बिल फील्ड के लगाए जा रहे हैं। अगर फील्ड में ही जाते तो एबीसी पर हो रहे अतिक्रमण के खिलाफ अभी तक कार्रवाई हो गई होती।

रेत माफिया के खिलाफ पुलिस भी नहीं करती कार्रवाई

गुढ़ाचंबल से लेकर चिन्नोंनी तक नहर पर जगह-जगह चंबल के प्रतिबंधित रेत के ढेर लगे हैं और रात दिन लोडिंग अनलोडिंग भी हो रही है। पुलिस को सब पता है लेकिन कार्रवाई नहीं करती। यह सब रेत माफिया और पुलिस की सांठगांठ से हो रहा है। सबसे अधिक रेत का कारोबार देवगढ़ थाना क्षेत्र में हो रहा है।

कथन

अंबाह ब्रांच केनाल पर सिकरौदा, जतावर और नंदपुरा के निर्माण करके अतिक्रमण किया और नहर पर रेत डंप करके अतिक्रमण किया है। उसकी रिपोर्ट हमने थाने में की है और कार्यपालन यंत्री को भी भेज दी है।

जी के गुप्ता, एसडीओ, जल संसाधन विभाग

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned