आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिवार को मिली खाद्य सामग्री

पत्रिका की पहल पर एक जरूरतमंद को मिली राहत

बानमोर. लॉकडाउन के चलते घर बैठा एक दलित परिवार मजदूरी न मिलने के कारण आर्थिक स्थिति से जूझ रहा था। यहां तक कि परिवार बेहद परेशान था। पत्रिका ने एक अपै्रल को '5 दिन से भूखा सो रहा दलित परिवार, पुलिस ने किया अनसुनाÓ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। उसके बाद प्रशासन सक्रिय हुआ और बानमोर तहसीलदार रत्नेश शर्मा द्वारा गुरुवार की सुबह 11 बजे परिवार को तहसील कार्यालय बुलाकर खाद्य सामग्री प्रदान की गई।


पिछले कुछ दिन से आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण दलित परिवार के घर खाना बनाना तो दूर चूल्हा भी नहीं जल रहा था इसलिए पूरा परिवार अन्न के दाने के लिए मोहताज था। पत्रिका ने इस ओर अधिकारियों को ध्यान आ•ॢषत कराया और उसको मदद मिल गई। भगीता का पुरा निवासी विश्वजीत पुत्र गोपाल जाटव ने बताया कि वह पिछले 10 वर्षों से मोहल्ले में रहकर मजदूरी का काम कर रहा है जिसके पास ना तो कोई राशनकार्ड है और ना ही कोई मजदूरी कार्ड फिर भी मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण कर रहा था, लेकिन अचानक लॉकडाउन के चलते रोजगार छिन गया और घर में कैद हो जाने से रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया। अगर पत्रिका अखवार ने मेरा दर्द बयां नहीं किया होता तो अभी तक मुझे मदद नहीं मिली होती।

COVID-19
Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned