scriptFarmers asked for cash payment, then traders dropped the price | किसानों ने मांगा नकद भुगतान तो व्यापारियों ने गिरा दिए दाम | Patrika News

किसानों ने मांगा नकद भुगतान तो व्यापारियों ने गिरा दिए दाम

मंडी में मचा बवाल, प्रशासन की समझाइश के बाद शांत हुआ मामला

मोरेना

Published: December 02, 2021 08:26:52 pm

होशंगाबाद. इटारसी कृषि उपज मंडी में किसानों ने व्यापारियों से शुक्रवार को आरटीजीएस के माध्यम से दो लाख रुपए नकद भुगतान मांगे, तो व्यापारियों ने औने- पौने भाव में धान खरीदना शुरू कर दिया। यह देख किसानों ने बवाल मचाना शुरू कर दिया। मंडी गेट पर ट्रॉलियां खड़ी कर जाम लगाया। इस बीच किसान संगठनों के नेता भी पहुंचे।

dhan_mandi.jpg

बवाल देख मौके पर पहुंचे एसडीएम, पुलिस ने किसानों को समझाइश देकर शांत कराया और व्यापारियों को निर्देश दिए कि वे समर्थन मूल्य पर ही धान खरीदें। इटारसी कृषि उपज मंडी में सुबह 10 बजे के लगभग व्यापारियों ने किसानों से धान खरीदी आरंभ की। इस दौरान एक किसान ने 50 हजार रुपए का नकद भुगतान कर शेष राशि आरटीजीएस के माध्यम से मांगा। तो तत्काल व्यापारियों ने भाव गिराना शुरू कर दिया। इसके बाद किसान अभिषेक दुबे का धान 3400 रुपए की बजाय 3000 रुपए यानी 400 रुपए कम भाव पर खरीदी की।

Must See: 9 करोड़ की लागत से बना कोविड केयर बिना किसी मरीज के इलाज के बंद

यह देख नाराज किसानों ने मंडी इटारसी के दफ्तर का घेराव किया। इस बीच कुछ किसानों ने गेट पर अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली खड़े कर दिए। हालांकि सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे एसडीएम एमएस रघुवंशी और पुलिस बल को देखकर अपने ट्रैक्टर हटा लिए। एसडीएम, इटारसी, एमएस रघुवंशी ने बताया कि कुछ व्यापारियों द्वारा कम भाव में धान खरीदी और भुगतान को लेकर किसानों ने विरोध दर्ज कराया। मौके पर हमने पहुंचकर किसान और व्यापारियों के बीच सकारात्मक बातचीत कर समस्या का निराकरण करवा दिया है। इसके बाद धान खरीदी शुरू हो गई।

Must See: मोबाइल फटने से युवक की मौत, युवति घायल

किसान अपने आप को ठगा महसूस कर रहे
किसानों ने कम भाव में खरीदी का विरोध करते हुए 50 हजार नकद भुगतान और शेष राशि अधिकतम 2 लाख तक आरटीजीएस से मांगा। क्रांतिकारी किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष हरपाल सिंह सोलंकी ने बताया कि मंडी में किसान अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। कृषि मंडी प्रशासन, व्यापारी, किसानों के बीच हुई बैठक में बनी सहमति कृषि उपज मंडी के कार्यालय में हुई बैठक में व्यापारियों और कृषि उपज मंडी प्रशासन के साथ किसान ने बैठक करके निर्णय लिया है कि किसानों को 50000 तक नकद भुगतान एवं 2 दिन के अंदर आरटीजीएस किए जाने पर सहमति बनी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.