रंग लाया किसानों का आंदोलन, नहरों में आया पानी

अब कर सकेंगे सरसों की बोवनी

By: rishi jaiswal

Updated: 26 Sep 2020, 11:57 PM IST

मुरैना. पलेवा के लिए परेशान किसानों की सुध लेते हुए जल संसाधन विभाग ने नहरों से पानी छोड़ दिया है। शनिवार को एबी रोड क्रॉस करके निकली एमबीसी में पानी देखकर किसानों के चेहरों पर खुशी दिखाई दी। हालंाकि कहा जा रहा है कि यह पानी Óयादातर भिण्ड जिले के लिए चला जाएगा, लेकिन एमबीसी से जुडे किसानों को तो इससे भरपूर लाभ मिलेगा। किसान खाली पड़े या बाजरे की फसल करने से खाली हुए खेतों की तैयारी सरसों की बोवनी के लिए आसानी कर पाएंगे।

बता दें कि सितंबर में बारिश न होने से किसानों के सामने न केवल खरीफ की पछेती फसलों पर संकट है बल्कि रबी फसलों की बोवनी के लिए तैयारियों में व्यावहारिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि बोवनी के लिए तो किसानों के पास समय है, लेकिन खेतों की तैयारियों को लेकर चिंतित थे। एबीसी में बैठकर तो शुक्रवार को ही युवा कांग्रेस व कुछ किसानों ने बैठकर प्रदर्शन आंदोलन किया था। किसानों का कहना है बडा रकवा एबीसी से जुडता है इसलिए वहां पानी पहले देना चाहिए था। किसान राजू तोमर कहते हैं कि एबीसी की लंबाई अधिक होने से रकवा भी इससे अधिक सिंचित होता है। इसका पानी अंतिम छोर तक पहुंचाने का प्रयास किया जाता है। इससे भिण्ड जिले का अटेर और फूप का हिस्सा भी जुडा है, लेकिन कब तक पानी पहुंचेगा कहा नहीं जा सकता।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned