scriptGajak is famous for crispness and sweetness | खस्तापन और मिठास के लिए प्रसिद्ध है ये गजक, इस वजह से बढ़ जाता है स्वाद | Patrika News

खस्तापन और मिठास के लिए प्रसिद्ध है ये गजक, इस वजह से बढ़ जाता है स्वाद

Gajak is famous for crispness and sweetness

मोरेना

Published: January 13, 2022 01:50:26 pm

मुरैना. सर्दी चरम पर है और मकर संक्रांति भी आ चुकी है. ऐसे में खस्ता और मीठी गजक का स्वाद मानो और बढ़ गया है. मुरैना की तो पहचान ही गजक से है. दुनियाभर में मुरैना को गजक के लिए ही जाना जाता है. गजक के शौकीनों के अनुसार मुरैना की गजक की बात ही कुछ और है. दरअसल गजक की उत्पत्ति ही मुरैना से हुई है. तिल और गुड़-शक्कर से बने इस लजीज मिष्ठान्न ने मुरैना को दुनियाभर में प्रसिद्ध कर दिया है.

gajak.png

ऐसे बनती है स्वादिष्ट गजक
मुरैना में प्रतिमाह सैंकड़ों क्विटंल गजक बनती है। कारीगर बताते हैं कि सबसे पहले तिल यानि तिल्ली को कढ़ाई में भूना जाता है और उसके बाद गुड़-शक्कर की चाशनी बनाकर गाढ़ी चाशनी में एक निश्चित तापमान की भुनी हुई तिल्ली मिलाई जाती है। तिल्ली मिलाने के बाद उसे आटे की तरह गूंथकर पटिया पर डालकर लकड़ी के हथौड़ों से कूटा जाता है। कूटने के बाद सांचे में रखकर काटकर पीस बनाए जाते हैं।

morena_1.jpg

सबसे खास बात तो यह है कि मुरैना के नाम से केवल मुरैना में ही गजक बेची जा सकती है, और किसी शहर में नहीं। तीन साल पहले मुरैना में आयोजित गजक महोत्सव में दर्जनों दुकानदारों ने यह तय किया था। हालांकि ऐसा हो नहीं सका. मुरैना की गजक की ऐसी डिमांड है कि देशभर में दुकानदार मुरैना गजक के नाम से ही गजक को आसानी से बेच देते हैं. ठंड का मौसम शुरु होते ही जिले से देशभर के लिए गजक की सप्लाई प्रारंभ हो जाती है.

मुरैनावासियों को अपनी इस पहचान पर गर्व भी है. यहां के लोग यह बात कहना भी नहीं भूलते कि जो स्वाद हमारी गजक में है वह और कहीं की भी गजक में नहीं आता. कहते हैं कि यहां का पानी ही कुछ ऐसा है कि गजक का स्वाद बदल जाता है. आम मुरैनावासी की इस बात की तस्दीक गजक बनानेवाले कारीगर भी करते हैं. मुरैना में गजक बना रहे कारीगरों के अनुसार अन्य जगहों पर गजक में न तो ऐसा स्वाद आता है और न ऐसी खस्ता बनती हैं.

गजक के प्रकार
— सामान्य गजक— गुड़ या शक्कर
— गजक समौसा— मावा
— गजक रोल
— गजक गुजिया— मावा

एक नजर—
मुरैना शहर में गजक की करीब डेढ़ सौ दुकानें
जिलेभर में करीब 750 दुकानें
मुरैना में गजक की कीमत 200 रुपए प्रति किलो से प्रारंभ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

गोवा में कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं, NCP शिवसेना के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावAntrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशRepulic Day Parade 2020: आजादी के 75 साल, 75 लड़ाकू विमान दिखाएंगे कमालLeopard: आदमखोर हुआ तेंदुआ, दो बच्चों को बनाया निवाला, वन विभाग ने दी सतर्क रहने की सलाहइन सेक्टरों में निकलने वाली हैं सरकारी भर्तियां, हर महीने 1 लाख रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.