scriptGet Urea of Rs.267 in 350, DAP of Rs.1350 for Rs.1450 | 267 रुपए का यूरिया 350 में, 1350 का डीएपी 1450 में जितना चाहो ले लो | Patrika News

267 रुपए का यूरिया 350 में, 1350 का डीएपी 1450 में जितना चाहो ले लो

रबी फसलों की बोवनी की तैयारी में लगे किसानों के लिए रासायनिक खाद की उपलब्धता बड़ी चुनौती है। प्रशासन का दावा है कि खाद की कोई कमी नहीं है, लेकिन किसानों को उपलब्ध नहीं हो रहा। मिल रहा है तो 80 से 100 रुपए प्रति बोरी तक महंगा।

मोरेना

Published: September 12, 2022 08:15:48 pm

स्टिंग ऑपरेशन
रवींद्र कुशवाह/कमल तोमर, मुरैना/पोरसा. सहकारी संस्थाओं पर लंबी कतारों और सीमित उपलब्धता से किसानों को मजबूरी में बाजार का रुख करना पड़ रहा है। बाजार में सरेआम कालाबाजारी जारी है। हालांकि होशियार विक्रेता हाव-भाव और हुलिया देखकर और अपनी तसल्ली करने के बाद ही भाव पर बात करते हैं। लेकिन जब बोलना शुरू करते हैं तो सब कुछ साफ हो जाता है। जब किसान कहते हैं कि खाद महंगा है तो विक्रेता तपाक से जवाब देते हैं-हमें जिस भाव मिलेगा, उसी के अनुसार तो बाजार में बेचेंगे ! पत्रिका टीम के एक स्टिंग ऑपरेशन में खाद की कालाबाजारी की पोल खुली है। स्टिंग ऑपरेशन रविवार और सोमवार को दो दिन में पूरा हो पाया। लेकिन जो वीडियो तैयार हुए उनमें कालाबाजारी का कच्चा-चि_ा खुलकर सामने आ गया। स्टिंग का आभास विक्रेताओं को भी हो गया तो कुछ से हाथ से लिखकर बिना हस्ताक्षर के दुकान पर भाव सूची भी चस्पा कर दी है। पोरसा कस्बे में किए गए इस स्टिंग ऑपरेशन में साफ हो गया कि 267 रुपए की यूरिया खाद की बोरी 350 रुपए में और 1350-1355 रुपए की डीएपी खाद की बोरी १1450 रुपए में खुलकर बेची जा रही है। पत्रिका ने गोपनीय तरीके से इसकी पड़ताल की तो यह सच उजागर हुआ।
पत्रिका टीम अंबाह रोड पर संचालित प्रिंस ट्रेडर्स की दुकान पर पहुंची और यूरिया व डीएपी की दर जाननी चाही तो संचालक कल्लू अग्रवाल ने कहा कि यूरिया 350 का है और डीएपी 1450 का। जब महंगा बताया तो दोनों में एक बोरी पर 10 रुपए कम पर देने पर तैयार हो गए।
इसके बाद गोपीचंद-गुलजारीलाल फर्म पर गए तो वहां भी खाद का यही भाव मिला। विक्रेता को शायद संदेह हुआ तो उन्होंने साथ में किसान बनकर गए व्यक्ति से उसके गांव का नाम भी पूछा। गांव के नाम पर तसल्ली करने के बाद महंगी दर की सूची बता दी। जब किसान बने व्यक्ति ने कहा कि यह महंगा है तो पुराने स्टॉक के डीएपी की बोरी एक जगह 1400 रुपए में भी देने की बात कही गई।
खाद की कालाबाजारी-मुरैना
कालाबाजारी की बात करता व्यापारी
क्या कहते हैं किसान
-हम यूरिया खाद लेने आए थे, 350 में दे रहे हैं, साथ में एक लिक्विड की बोतल थमा रहे हैं। डीएपी 1450 में दे रहे हैं। उसमें भी दुकानदार कहते हैं कि रात के समय बोरी उठाने आना। किसान बहुत परेशान हैं।
संतोष सिंह तोमर, किसान, ग्राम एडीमाल का पुरा
-नहीं हम ज्यादा दर पर यूरिया व डीएपी नहीं बेच रहे। किसी ने झूठ बोला होगा। हम निर्धारित दर से खाद बेच रहे हैं।
कल्लू अग्रवाल, खाद विक्रेता
-रविवार को कई दुकानों पर खाद तलाशा। यूरिया 350 और डीएपी 1450 रुपए से कम में कोई देने को तैयार नहीं है। बोवनी का समय है, मजबूरी में इसी दर पर खरीदना पड़ रहा है। सहकारी समितियों पर खाद ज्यादा है नहीं, इसलिए लंबी कतारें हैं।
सत्यवान सिंह तोमर, किसान, ग्राम डोंडरी।
एसडीओ सुरेश शर्मा से सीधी बातचीत
पत्रिका-यूरिया की रेट क्या है ?
एसएडीओ-यूरिया की दर 266 रुपए कुछ पैसे है। डीएपी 1355 रुपए प्रति बोरी की दर है।
पत्रिका-यूरिया 350 और डीएपी 1450 रुपए में दिया जा रहा है ï?
एसएडीओ-निर्धारित दर से खाद वितरित करवाएंगे। विक्रेता साथ में नैनो यूरिया की बोतल भी देते हैं, लेकिन अनिवार्य नहीं है। किसानों को बिल जरूर लेना चाहिए।
पत्रिका-दुकान पर रेट लिस्ट तो होनी चाहिए ?
एसएडीओ-जरूर होनी चाहिए, हम निरीक्षण करवाते हैं और रेट लिस्ट लगवाते हैं। ज्यादा दर पर बिक्री में भी नोटिस जारी कर कार्रवाई करवाएंगे।
एसडीएम से राजीव समाधिया से सीधी बातचीत
पत्रिका-किसानों को यूरिया 350 का और डीएपी 1450 का दे रहे हैं, क्यों?
एसडीएम-हमने कालाबाजारी पर कल ही एफआईआर करवाई है, ज्यादा दर पर नहीं बेचने देंगे। हम कालाबाजारी रोकने का प्रयास कर रहे हैं।
पत्रिका-इस संबंध में हमारे पास वीडियो है ?
एसडीएम-इस पर म्यूचुअल बात करते हैं, अभी हम मीटिंग में हैं।
पत्रिका-कोई इस संबंध में कार्रवाई होगी ?
एसडीएम-हम एक-दो दिन में दौरा करते हैं। कोई सामने शिकायत करता है या ज्यादा दर पर बेचते पकड़वाता है तो हम उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करवाएंगे।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

अंकिता हत्याकांड : जांच के लिए गठित की गई SIT, CM ने कहा- "चाहे कोई भी हो, अपराधियों को नहीं बख्शा जाएगा"अंकिता भंडारी मर्डर केसः 7 दिन बाद मिली लाश, BJP नेता के बेटे पर देह व्यापार का आरोप, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंउत्तराखंडः तवाघाट-लिपुलेख नेशनल हाईवे लैंडस्लाइड के बाद से बंद, 400 यात्री फंसेराजस्थान में नए मुख्यमंत्री के बनने से ठीक पहले इस विधायक के दो बेटे लाखों रुपए लेते पकडे गए... जयपुर में देर रात एक्शनUNGA में पाकिस्तान को भारत का करारा जवाब: संवाद और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकतेअंकिता हत्याकांड : एक्शन में उत्तराखंड सरकार, ऋषिकेश में पुलकित आर्य के रिजॉर्ट पर चला बुलडोजर, CM बोले - दी जाएगी कड़ी सजाLaver Cup 2022: आख़िरी मैच में राफेल नडाल के साथ उतरे रोजर फ़ेडरर, हार के बाद रो पड़े, विडियो वायरलMaharashtra: शिवसेना ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर फिर बोला जोरदार हमला, दिल्ली दौरे को लेकर कही ये बड़ी बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.