सीवर कार्य भगवान भरोसे, ननि नहीं कर रहा मॉनिटरिंग

Mahendra Rajore

Publish: Apr, 17 2018 07:00:00 PM (IST)

Morena, Madhya Pradesh, India
सीवर कार्य भगवान भरोसे, ननि नहीं कर रहा मॉनिटरिंग

कहीं पानी की समस्या तो कहीं छोड़ दिए गहरे गड्ढे
कलेक्टर के निर्देश भी बेअसर

मुरैना. शहर में सीवर कार्य भगवान भरोसे चल रहा है। सीवर ठेकेदार व उसकी टीम जो काम कर दे, वह सर्वमान्य है। नगर निगम के अधिकारियों द्वारा मॉनिटरिंग तो दूर कभी झांकने तक नहीं पहुंचते। पूर्व में कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार को सीवर निर्माण कार्य के दौरान अनियमितताएं मिली थीं, उनमें सुधार के निर्देश दिए थे, लेकिन कोई सुधार नहीं हो सका। शहर के हालात यह हैं कि कहीं पानी नहीं आ रहा है और कहीं गहरे गड्ढे छोड़ दिए हैं।
नगर निगम ने सीवर कंपनी को फ्री हैंड कर दिया है। वह कहीं भी पाइप लाइन चेंज कर दे, किसी का भी कनेक्शन कर दें और कहीं भी सड़क खोदकर डाल दे, कोई न देखने वाला है और न सुनने वाला। शहर की केशव कॉलोनी की शंकर गली में सीवर कार्य के दौरान पानी की लाइन के पाइप फूट गए थे। वहां दोबारा नई पाइप लाइन डाली गई है। उसका पुरानी लाइन से लेबल ऊंचा कर दिया है। इसके चलते पाइप लाइन में पानी कुछ समय के लिए ही आता है। बमुश्किल आधा घंटे ही लाइन में पानी आता है, उसके बाद फिर से बंद हो जाता है। यही हाल शहर के न्यू आमपुरा का है, यहां सीवर लाइन डालने के बाद सड़क नहीं डाली गई है, यहां आए दिन वाहन फंस रहे हैं।
विधायक ने उठाई आवाज, तब शुरू हुआ सड़क निर्माण
दिमनी विधायक बलवीर डंडोतिया ने विधानसभा में सीवर लाइन के बाद सड़क का निर्माण नहीं कराए जाने का मामला विधानसभा में उठाया था, उसके बाद शहर के मुख्य मार्गों पर तो सड़कों का निर्माण करा दिया है, लेकिन गली, मोहल्लों की आज भी स्थिति खराब है।
ऐसे हो सकता है जल समस्या का हल
केशव कॉलोनी में पानी की समस्या का हल इस तरह हो सकता है। एक तो पाठक वाली गली का बोर चालू हो जाए और दूसरा ऑफिसर कॉलोनी में नया बोर हुआ है, उसकी पाइप लाइन नजदीक तक डाली जा चुकी है। इसका कनेक्शन केशव कॉलोनी की नई पाइप लाइन से जोड़ दिया जाए तो पानी की समस्या का स्थायी हल हो सकता है।
जल शाखा में कराया कर्मचारी ने पट्टा!
नगर निगम की जल शाखा में एक कर्मचारी ने स्थायी पट्टा करा लिया है। ऐसा लगता है कि यह शाखा स्थायी रूप से इसके नाम कर दी है। पिछले डेढ़ दशक से उक्त कर्मचारी जल शाखा में पदस्थ है। शहर में जब भी कोई पानी की समस्या आती है तो कार्यालय में बैठकर ही हल करने की कोशिश की जाती है।
आयुक्त के निर्देश को प्रभारी ने नहीं लिया गंभीरता से
नगर निगम आयुक्त डीएस परिहार ने जल शाखा प्रभारी कमरुद्दीन को बुलाकर कहा कि शंकर गली की क्या समस्या है, इसको हल करें। कमरुद्दीन ने यह कहकर चलता कर दिया कि कार्यपालन यंत्री केके शर्मा के यहां शादी है वह छुट्टी पर हैं, उनके लौटने पर कुछ हो पाएगा, लेकिन कमिश्नर दोबारा बुलाकर कमरुद्दीन को सख्त निर्देश दिए कि हर हाल में जल समस्या का निराकरण किया जाए।
कार्यपालन यंत्री ने निसीव नहीं किया मोबाइल
नगर निगम के कार्यपालन यंत्री के के शर्मा को कार्यालय समय में दो बार उनके मोबाइल पर फोन किया गया, लेकिन उन्होंने मोबाइल रिसीव नहीं किया। जबकि जल शाखा प्रभारी ने स्पष्ट कह दिया कि वह शादी में गए हैं, वहीं आयुक्त ने कहा कि वह ड्यूटी पर हैं। आम नागरिकों नगर निगम में शाखा प्रभारी द्वारा गुमराह किया जाता है।
कथन
केशव कॉलोनी की जल समस्या के लिए नए पंप से कनेक्शन कराया जाएगा फिलहाल इइ साहब अवकाश पर हैं, उनके लौटने पर समस्या का हल करवा दिया जाएगा।
कमरुद्दीन खान, जल शाखा प्रभारी, नगर निगम

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned