अंबेडकर की खंडित मूर्ति नहीं बदली तो होगा अंदोलन

- दलित समाज उतरा सडक़ पर, कलेक्टर के नाम तहसीलदार को दिया ज्ञापन

By: Ashok Sharma

Updated: 03 Apr 2021, 04:19 PM IST


मुरैना. पुलिस थाना बानमोर के पीछे स्थित डॉ. भीमराव अंबेडकर की खंडित मूर्ति को शीघ्र बदलने की मांग को लेकर दलित समाज के लोगों द्वारा मुरैना जिलाधीश के नाम तहसीलदार रत्नेश शर्मा को ज्ञापन दिया गया जिसमें 5 दिन का अल्टीमेटम दिया है और कहा है कि अगर समय सीमा के अंदर खंडित मूर्ति को नहीं बदला गया तो धरना प्रदर्शन आंदोलन होगा।
यहां बता दें कि 8 फरवरी को असामाजिक तत्वों द्वारा पुलिस थाने के पीछे स्थित अंबेडकर की मूर्ति को खंडित कर दिया गया था जिसमें पुलिस ने कार्रवाई कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन मूर्ति को आज तक नहीं बदला गया। खंडित मूर्ति को लेकर दलित समाज के लोगों ने शनिवार को अंबेडकर पार्क में बैठक आयोजित की। उसके बाद दलित समाज के लोग एकत्रित होकर बड़ी संख्या में सडक़ पर उतर आए और वे तहसील कार्यालय पहुंचकर जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने यदि 5 दिन के अंदर उनकी मांगें मंजूर नहीं की तो वह बड़ी संख्या में धरना प्रदर्शन करने पर आमदा हो जाएंगे। ज्ञापन देने वालों में पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष विमला भगवान सिंह, कमल सिंह राजे, दसरथ अटारिया, वासुदेव सैमिल, देवेंद्र पुरिया, अजय लहरी, छोटेलाल कैन, अमर सिंह मौर्य, उत्तम सिंह, सुल्तान चौपड़ा, महाराज सिंह, एस के टेलर, राजेश टैगोर सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned