शराब पी तो समाज तोड़ेगा रोटी-बेटी का संबंध

Mahendra Rajore

Publish: Sep, 17 2017 12:39:22 (IST)

Morena, Madhya Pradesh, India
शराब पी तो समाज तोड़ेगा रोटी-बेटी का संबंध

लोधी महासभा के नशामुक्ति अभियान में लिया गया फैसला

मुरैना. लोधी समाज का कोई व्यक्ति यदि शराब की लत नहीं छोड़ता है तो उसे समाज से बहिष्कृत कर, रोटी-बेटी का संबंध खत्म कर दिया जाएगा। यह फैसला दो दिन तक लोधी बहुल सात गांवों में चले नशामुक्ति अभियान के दौरान लिया गया।
शुक्रवार व शनिवार को नावली, बड़ागांव, सिरमिती, महेबा का पुरा, माताबसैया, डोंगरपुर लोधा आदि गांवों में शराबबंदी की पहल करने लोधी महासभा के नशामुक्ति अभियान की राष्ट्रीय प्रचारक साध्वी प्रियंका भारती यहां आई थीं। उनके साथ भाजपा नेता प्रीतम लोधी, महासभा की महिला विंग की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुपमा सिंह, जिलाध्यक्ष मुन्नी लोधी, भिण्ड से गंभीर सिंह नरवरिया, अटेर जनपद अध्यक्ष सोमराज सिंह नरवरिया, ग्वालियर जिलाध्यक्ष चरन सिंह, संभागीय अध्यक्ष रामकरन सिंह, जिलाध्यक्ष अंगद सिंह आदि भी अभियान का हिस्सा बने। इसके अलावा दिमनी के पूर्व विधायक शिवमंगल सिंह भी इस दौरान शराबबंदी का समर्थन करने पहुंचे। अभियान के दौरान तय हुआ कि यदि लोधी समाज का कोई व्यक्ति शराब पीता है तो उस पर 1100 रुपए का जुर्माना होगा। वहीं शराब बेचने वाले पर 11 हजार रुपए का अर्थदण्ड किया जाएगा। यदि वह जुर्माने की राशि अदा नहीं करता तो उसे गांव की गली में पूरे दिन झाडू लगाना होगा। इसके बाद यदि वह फिर से शराब पिये हुए मिला तो उसका सामाजिक बहिष्कार होगा और रोटी-बेटी का संबंध खत्म कर दिया जाएगा।


शराबबंदी के लिए बनेंगी टीमें
साध्वी प्रियंका भारती ने डोंगरपुर लोधा में बोलते हुए कहा कि गांवों में शराबबंदी के लिए गरम दल और नरम दल की टीमें गठित की जाएंगी। डोंगरपुर में शराब के ठेके को अन्यत्र शिफ्ट कराने के लिए जल्द ही लोधी समाज के लोग कलेक्टर से मिलेंगे। यदि यह मांग पूरी नहीं हुई तो समाज के लोग सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेंगे। प्रियंका भारती ने डोंगरपुर क्षेत्र में संचालित जुए के फड़ को बंद कराने की मांग भी उठाई।


सेंथरी में पंचायत कर लगाया शराब पर प्रतिबंध


मुरैना. शराबबंदी के लिए सेंथरी में पंचायत का आयोजन किया गया। समाज सुधार समित द्वारा शुक्रवार को आयोजित पंचायत में 23 गांवों के लोग एकत्रित हुए और उन्होंने सेंथरी पंचायत में शराब पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया। इस दौरान शराब पीने पर 500 रुपए व बेचने पर 1100 रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया। समाज सुधार समिति के अध्यक्ष नारायण सिंह दद्दू, केदार सिंह, परशुराम सिंह, उदयभान सिंह एकता परिषद, शिवराज सिंह, अनेक सिंह, कल्लू सिंह, उदयवीर सिंह सिकरवार, शंकरलाल तिवारी, लक्ष्मीनारायण शर्मा, बदन ङ्क्षसह, रामबाबू सिंह, सुरेश ङ्क्षसह, भानू सहित अन्य मौजूद थे।


बैठक के दौरान नारायण सिंह दद्दू व परशुराम सिंह ने युवाओं से शराबबंदी के लिए आगे आने का आहवन किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में हमारे युवा शराब के सेवन के लिए गलत रास्ता अपना रहे हैं जो उनके व उनके बच्चों के लिए घातक है। उन युवाओं से अपील करते हैं कि शराब छोड़कर समाज व परिवार के विकास में योगदान दें। उदयभान ङ्क्षसह ने बताया कि समाज सुधार समिति के सदस्य लगातार ग्रामीण इलाकों में जाकर लोगों से संपर्क कर शराब पर प्रतिबंध की बात कर रहे हैं। अभी तक 135 गांवों में सभाएं कर संवाद किया गया है। 17 गांवों में बड़ी सभाएं की गई हैं। जिसके परिणाम सकरात्मक आ रहे हैं और लगातार पंचायतें आयोजित कर शराब पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। पंचायत में राधेश्याम सिंह, शशिभान सिंह, बलबहादुर सिंह, रामवीर सिह, कोक सिंह, इन्द्र सिंह, बृजेन्द्र सिंह, देवेन्द्र पटेल, गुड्डू सिंह, हेमेन्द्र सिंह सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned