आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे मजदूर ने की आत्महत्या

- लॉकडाउन के चलते काम न मिलने से परेशान था मृतक
- एक्सीडेंट में घायल होने पर चंदे के पैसों से करवाया इलाज

By: Ashok Sharma

Published: 27 Jun 2021, 07:17 PM IST

मुरैना. लॉकडाउन के चलते मजदूर को काम नहीं मिला और आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे मजदूर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। एक्सीडेंट होने पर चंदे के पैसे से उसका इलाज कराया गया। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया है।
पुलिस के अनुसार मनीष पुत्र जय श्री राम सखवार निवासी बजरंग कॉलोनी अंबाह ने थाने में रिपोर्ट की है कि रविवार की सुबह 5 बजे उसे उसके साले गिर्राज सखवार निवासी झारन का पुरा ने फोन से बताया कि शनिवार की रात को मेरे चाचा छोटेलाल उर्फ छोटा (४०) पुत्र केसरी ने झारन के पुरा के पास एक प्लॉट में खड़े बबूल के पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने उक्त विवरण पर से मर्ग कायम कर जांच हेतु एसआई बीरेंद्र सिंह को नियुक्त किया है। उधर मृतक के भतीजे सूरज सखवार ने बताया कि मृतक छोटेलाल आर्थिक रूप से परेशान थे। कुछ दिन पूर्व उनका एक्सीडेंट हुआ था जिसमें उनके पैर में चोट आई थी छोटेलाल पर जो कुछ पैसा था, उसका इलाज में लग गया फिर भी इलाज नहीं हो सका। तब परिजन एवं रिश्तेदारों ने चंदा करके उसका इलाज कराया था। सूरज ने बताया कि लॉकडाउन के चलते काम न मिलने के कारण छोटेलाल आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा था। वहीं डॉक्टर ने उनके पैर के ऑपरेशन की बोला था, पैसे की व्यवस्था थी नहीं, इसलिए पिछले कुछ दिन से वह परेशान थे, उसकी चलते उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned