थाना प्रभारी १० हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने पकड़े

- मिट्टी खुदाई व परिवहन के ऐवज में मांग रहे थे रिश्वत

By: Ashok Sharma

Published: 06 Oct 2021, 09:31 PM IST


मुरैना. लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार की शाम रामपुर थाना प्रभारी राहुल उपाध्याय को दस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। फरियादी राघवेंद्र कुशवाह से जेसीबी से मिट्टी खोदने और टै्रक्टर ट्रॉली से मिट्टी परिवहन के ऐवज में थाना प्रभारी 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा था।
जानकारी के अनुसार राघवेन्द्र सिंह कुशवाह निवासी जारौली मिट्टी, बजरी का काम करता है। मिट्टी खोदने जेसीबी और परिवहन में टै्रक्टर ट्रॉली लगे हैं। इस कारोबार का चलाने के लिए थाना प्रभारी ने राघवेन्द्र कुशवाह से दस हजार रुपए मांगे थे। फरियादी ने २९ सितंबर को ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायत की। उसके बाद लोकायुक्त ने फरियादी को रिकॉर्डर दिया। उसमें थाना प्रभारी द्वारा रिश्वत मांगने की बातचीत रिकॉर्ड की गई। उसके बाद ५ अक्टूबर को लोकायुक्त पुलिस ने थाना प्रभारी के खिलाफ एफआइआर दर्ज की और दस हजार रुपए पावडर लगाकर फरियादी को दिए और बुधवार को थाना प्रभारी को देने के लिए भेजा गया। फरियादी ने शाम के समय थाना प्रभारी को थाना परिसर में दस हजार रुपए दिए तभी लोकायुक्त ने उनको पकड़ लिया। उनके हाथ धुलवाए तो हाथ रंग गए और थाने में बैठकर टीम ने कार्रवाई की। कार्रवाई में लोकायुक्त निरीक्षक राघवेन्द्र सिंह तोमर, राघवेन्द्र ऋषीश्वर, ब्रजमोहन नरवरिया, कार्य. प्रआ हेमंत शर्मा, आरक्षक नेतराम राजौरिया, सुरेन्द्र सेमिल, देवेन्द्र पवैया, विनोद शाक्य, धीरज नायक, विशंभर भदौरिया, बलवीर सिंह आदि शामिल रहे।
कथन
- रामपुर थाना प्रभारी राहुल उपाध्याय को दस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है। थाना प्रभारी जेसीबी से मिट्टी खोदने और टै्रक्टर से परिवहन करने के ऐवज में रिश्वत मांग रहा था।
राघवेन्द्र सिंह तोमर, निरीक्षक, लोकायुक्त, ग्वालियर

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned