VIDEO : रेत माफिया का पीछा कर रही वन टीम की फायरिंग में ग्रामीण की मौत, परिजन ने किया चक्काजाम

  • वाहन मौके पर छोडक़र भागा वन अमला, तीन घंटे तक लगा रहा अटेर रोड पर जाम
  • ग्रामीणों ने जीप के कांच फोड़े, बंदूक का लाइसेंस, मृतक के बेटे को नौकरी की मांग

By: हुसैन अली

Published: 13 Jun 2021, 11:15 PM IST

मुरैना/पोरसा. रेत माफिया का पीछा कर रही वन टीम की फायरिंग से गोली लगने से ग्रामीण महावीर सिंह तोमर की मौत से आक्रोशित लोगों ने सुबह नौ बजे से दोपहर 12 बजे तक जाम लगाया। पीडि़त पक्ष ने शव को ट्रॉली में रखकर अटेर रोड पर जाम लगाया। उनकी मांग थी कि वन टीम पर हत्या का केस दर्ज हो, मृतक के बेटे को नौकरी, बंदूक का लाइसेंस, आर्थिक सहायता दी जाए। एसडीएम व एसडीओपी अंबाह, विधायक अंबाह कमलेश जाटव भी मौके पर पहुंच गए। सुरक्षा की दृष्टि से जिलेभर का पुलिस फोर्स मौके पर मौजूद रहा।

टै्रक्टर-ट्रॉली रोकने के लिए फायरिंग की

घटनाक्रम के अनुसार नगरा थाना क्षेत्र में चंबल नदी के घाटों से रेत का अवैध उत्खनन जोरों पर चल रहा है। रविवार सुबह नगरा घाट से ट्रैक्टर ट्रॉली में अवैध रेत भरकर ले जा रही थी। अमोलपुरा के पास पहुंचकर टै्रक्टर-ट्रॉली रोकने के लिए वन टीम ने फायरिंग शुरू की दी। इसी दौरान ग्रामीण महावीर सिंह तोमर वहां से गुजर रहे थे और गोली लगने से उनकी मौत हो गई। ग्रामीण को गोली लगने के बाद वन टीम अपनी जीप को मौके पर छोडक़र वहां से भाग गई। आक्रोशित लोगों ने जीप के कांच फोड़ दिए। पुलिस ने जीप को थाने में रख दिया है।

तात्कालिक आर्थिक सहायता और नौकरी का आश्वासन

पीडि़त पक्ष को एसडीएम अंबाह राजीव समाधिया द्वारा 20 हजार रुपए तात्कालिक सहायता रेडक्रॉस से दी। बंदूक का लाइसेंस, बीपीएल कार्ड बनाने का आश्वासन दिया तथा बेटे की नौकरी का आवेदन कलेक्टर की तरफ भेजा गया है।

इन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

वन विभाग की टीम की फायरिंग से ग्रामीण की मौत के मामले में नौ लोगों पर हत्या व बलवा की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। जिन लोगों को आरोपी बनाया है, उसमें वनकर्मी प्रमोद तोमर, राघवेन्द्र उर्फ मन्नी भदौरिया साथी विश्वनाथ सिंह चौहान, आशीष उपाध्याय, हेमंत राठौर, मनीष त्यागी, जीवेश शर्मा, अवधेश कुशवाह, सत्यप्रकाश शामिल हैं। इसमें एक गाड़ी मालिक भी बताया गया है। बताया गया है कि इस टीम में प्रमोद तोमर फौज से रिटायर्ड होकर वन आरक्षक पर भर्ती हुआ है। इसका क्षेत्र में जबरदस्त आतंक है।

मौके पर रखी वन विभाग की क्षतिग्रस्त जीप में कुछ चले हुए कारतूस मिले हैं। फिलहाल जीप को थाने में रखवा दिया है। जांच करवाएंगे कि जीप विभागीय, अनुबंधित या फिर किसी की प्राइवेट है। फिलहाल नौ लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

अशोक जादौन, एसडीओपी, अंबाह

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned