मिहिर भोज की जाति का विवाद भड़का, धारा 144 लागू

बसों पर पथराव के बाद स्कूल-कॉलेज भी बंद

By: deepak deewan

Updated: 24 Sep 2021, 02:31 PM IST

मुरैना.सम्राट मिहिर भोज की जाति का विवाद और भड़क उठा है. इस मसले पर दो समुदायों के बीच बढ़ते विवाद को देखते हुए जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। जिला दण्डाधिकारी बी कार्तिकेयन ने इस संबंध में आज सुबह आदेश जारी कर दिया। प्रशासन ने तनाव को देखते हुए जिलेभर में स्कूल—कालेजों को पहले ही बंद करा दिया था. स्कूल—कालेज 3 दिन तक बंद रहेंगे.

इधर ग्वालियर मुरैना के बीच चलने वाली यात्री बसों की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी पुलिस को दी गई है। गुरुवार को 4 बसों में तोड़फोड़ और यात्रियों को घायल करने के बाद शुक्रवार को भी जब बसों में हाईवे पर तोड़फोड़ जारी रही तब प्रशासन ने तनाव बढ़ने की आशंका को देखते हुए धारा 144 लागू की।

सम्राट मिहिर भोज की ग्वालियर में स्थापित प्रतिमा के बाद क्षत्रिय व गुर्जर समुदाय में विवाद है। गुरुवार को दोपहर में क्षत्रिय समाज के लोगों ने कोतवाली के सामने और पुरानी कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया था। इस दौरान शहर में कुछ पोस्टर फाड़े जाने की भी घटनाएं हुई थी। प्रतिक्रिया स्वरूप गुर्जर समुदाय के लोगों ने शाम को एसपी को ज्ञापन दिया।

jati2.jpg

इसके कुछ देर बाद ही हाईवे पर करुआ के पास और बानमोर औद्योगिक क्षेत्र में 4 यात्री बसों में पथराव और लाठी-डंडों से हमला कर तोड़फोड़ की गई थी. इसमें एक दर्जन से ज्यादा सवारियों और बस के स्टाफ को चोटें पहुंची थी। बसों में तोड़फोड़ का सिलसिला शुक्रवार को भी सुबह से जारी रहा तो जिला प्रशासन ने निषेधाज्ञा जारी कर दी।

पुलिस ने नूराबाद, बानमोर थाना में बस क्षतिग्रस्त करने वालों पर केस दर्ज कर लिया है. इसके साथ ही मुरैना-कोतवाली में पोस्टर फाडऩे वालों के विरुद्ध भी मामला दर्ज किया गया है। मुरैना में एक वर्ग जहां सम्राट मिहिर भोज को क्षत्रिय बता रहा है वहीं दूसरा पक्ष उन्हें गुर्जर कह रहा है. इस विवाद ने अब हिंसक रूप ले लिया है.

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned