त्यौहार नजदीक, शिक्षकों को नहीं मिला वेतन

- विकासखंड मुरैना के छह सैकड़ा शिक्षकों के सामने रोजीरोटी का संकट

By: Ashok Sharma

Published: 01 Mar 2020, 05:46 PM IST


मुरैना. होली का त्यौहार नजदीक आ चुका है और विकासखंड मुरैना के प्रायमरी स्कूल के शिक्षकों को जनवरी-फरवरी महीने का वेतन अभी तक नहीं मिला है। छह सैकड़ा से अधिक शिक्षकों के सामने रोजीरोटी का संकट खड़ा हो गया है।
नियमानुसार महीने की एक तारीख को पिछले महीने का वेतन भुगतान कर दिया जाता है। लेकिन इस बार प्रायमरी शिक्षकों को जनवरी महीने का वेतन एक फरवरी को मिलना था वह नहीं मिला और फरवरी का वेतन एक मार्च को उनके खाते में ट्रांसफर करना था, वह भी नहीं हो सका। इस हरत जनवरी व फरवरी महीने का भुगतान शिक्षकों को लटक गया है। वहीं होली का त्यौहार नजदीक है ऊपर से घर का खर्च। शिक्षकों का कहना हैं कि फरवरी के महीने में शाहलग भी था इसलिए घर परिवार का खर्च बढ़ जाता है और फिर तनख्वाह का न मिलना, बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है।
मार्च में वेतन की उम्मीद कम
मार्च में महीने में भी शिक्षक वेतन मिलने की उम्मीद कम ही लगा रहे हैं। उनका कहना हैं कि मार्च वित्तीय साल का अंतिम महीना होता है इसलिए इनकम टैक्स बगैरह की जानकारी विभाग से मांगी जाती है, उसकी खानापूर्ति करने में समय लगता है।
बजट के अभाव में लटका वेतन
शिक्षा विभाग से पता चला है कि मिडिल व प्रायमरी के शिक्षकों को वेतन पत्रक एक साथ तैयार करके टे्रजरी में जमा करवाया था लेकिन बजट के अभाव में शिक्षकों का भुगतान नहीं हो सका। वहीं कुछ शिक्षकों का कहना हैं कि वित्तीय सत्र समाप्त हो रहा है इसलिए बजट लेेेप्स होकर दोबारा बजट आएगा इस स्थिति में वेतन और लेट हो सकता है।
कथन
- प्रायमरी स्कूल के पुराने सहायक शिक्षक हैं उनको बजट के अभाव में वेतन नहीं मिल सका है। जैसे ही बजट आता है, उनको भी वेतन भुगतान कर दिया जाएगा।
सुभाष शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी, मुरैना

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned