अफसर बोले छोटी-छोटी बातों पर नहीं करते प्रदर्शन

मंडी में हड़ताल, किसानों की उपज व्यापारी खरीद रहे औने-पौने दामों में

By: rishi jaiswal

Published: 07 Sep 2020, 11:58 PM IST

मुरैना. कृषि उपज मंडी समितियों में लागू होने जा रहे मॉडल एक्ट के विरोध में कर्मचारी पांच से हड़ताल पर हैं। ऐसे में मंडी परिसरों में बोली लगाने सहित तौल आदि का काम व्यवस्थित तरीके से नहीं हो पा रहा है। इसका फायदा उठाकर व्यापारी किसानों से सस्ते दामों में उनकी उपज खरीद रहे हैं। इससे आक्रोशित किसानों ने सोमवार को दोपहर में कलेक्टर बंगले का घेराव कर दिया।

अंबाह व दिमनी की ओर से आए किसानों ने कहा कि उनके साथ छलावा किया जा रहा है और प्रशासन इस पर ध्यान नहीं दे रहा है। करीब एक दर्जन किसानों ने अपने ट्रैक्टर ट्रॉली कलेक्टर बंगले के बाहर एमएस रोड पर खड़े कर दिए और नारेबाजी करने लगे। लेकिन पाइंट मिलते ही कोतवाली पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई। तहसीलदार भरत कुमार भी आ गए। इसके बाद किसानों से चर्चा की गई। तहसीलदार पर पुलिस ने किसानों को बताया कि हड़ताल से परेशानी हो सकती है, लेकिन इसके लिए कलेक्टर का बंगला घेरने का औचित्य नहीं है। वैसे भी बंगले में इस समय वर्तमान कलेक्टर निवास नहीं कर रहे हैं। इस दौरान एक-दो किसान उत्तेजित होते भी दिखे। इस पर पुलिस ने उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि छोटे-मोटे कार्य के लिए कलेक्टर के बंगले नहीं घेरे जाते। हालांकि समझाने के बाद किसान वापस चले गए। इसके पहले अचानक कलेक्टर बंगले पर पहुंचे किसानो ने एमएस रोड पर एक कतार में आधा दर्जन के करीब ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खड़ी कर दीं और नारेबाजी करने लगे, लेकिन शहर भ्रमण पर निकले दो सब इंस्पेक्टर को इसकी जानकारी मिल गई और वे तुरंत मौके पर पहुंच गए। किसानों की बात सुनने और समझने के बाद उन्होंने प्रयास करके किसानों को आंदोलन न करने के लिए राजी कर लिया। इसके बाद किसान लौट गए।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned