र्कारवाई के बाद भी नहींचेत रहे अधिकारी

3 प्रतिशत ही बढ़ी प्रगति, सीएम हेल्पलाइन न देखने वाले चार अधिकारियों को नोटिस

By: rishi jaiswal

Published: 25 Aug 2020, 11:59 PM IST

मुरैना. पात्र वंचित परिवारों को खाद्यान्न की पर्चियां देने के लिए ऑनलाइन आधार फीडिंग व जरूरी औपचारिकताओं में सुस्ती दूर नहीं हुई है। सात नगरीय निकायों के सीएमओ नोटिस के बावजूद तीन दिन पर महज 3 प्रतिशत प्रगति हो सकी है। अब 31 से बढ़कर फीडिंग कार्य 35 फीसदी हो गया है। वहीं सीएम हेल्पलाइन को लेकर निरंतर चेतावनियों के बावजूद चार अधिकारियों ने पिछले सप्ताह पोर्टल खोलकर ही नहीं देखा है। इस पर चारों को नोटिस जारी किया गया है।

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने अधिकारियों को चेताया कि शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं पर प्रगति न लाने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। पिछले सप्ताह पोर्टल पर सीएम हेल्पलाइन का अवलोकन नहीं करने के आरोप में जिला आपूर्ति नियंत्रक भीम सिंह तोमर, सीएमओ कैलारस अमजद गनी खान, सीएमओ सबलगढ़ महेन्द्र गर्ग, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी कैलारस संजीव शर्मा के नाम शामिल हैं। पात्रता पर्चियों की समीक्षा में भी चिंताजनक स्थिति मिली, जबकि तीन-चार दिन पहले ही सात निकायों को 31 प्रतिशत प्रगति कर पाने के आरोप में नोटिस दिए थे। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि नवीन पात्रता पर्ची एवं आधार सीडिंग का कार्य प्रदेश स्तर से चल रहा है। जिसमें पोर्टल पर नवीन परिवार की पात्रता पर्ची की स्वीकृति एवं राशन प्राप्त कर रहे परिवारों में नये सदस्यों की स्वीकृति की स्थानीय निकायवार प्रगति संतोषजनक नहीं है। जनपदों के हालात भी अ'छे नहीं हैं। इसमें प्रगति नहीं लाने पर कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि दो दिन में प्रगति आशाजनक नहीं हुई तो कार्रवाई की जाएगी।

पात्रता पर्चियों की कहां क्या स्थिति

जिले में 1 लाख 67 हजार 251 पात्रता पर्चियों का लक्ष्य है। लेकिन प्रगति महज &5 प्रतिशत हो पाई है। नगर परिषद कैलारस में 66 प्रतिशत, जनपद पंचायत में 56, जनपद पंचायत जौरा में 54, नगर पालिका पोरसा में 41, जनपद पंचायत पोरसा में &9, नगर पालिका अंबाह में &8, जनपद पंचायत अंबाह में &1, नगर निगम मुरैना में 21, जनपद पंचायत मुरैना में 42, जनपद पंचायत सबलगढ़ में 14, जनपद पंचायत पहाडगढ़ में 25, नगर पालिका सबलगढ़ में 12, नगर परिषद झुंडपुरा में &, नगर परिषद जौरा में 2 प्रतिशत और नगर परिषद बानमौर में 14 प्रतिशत ही फीडिंग हो पाई है।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned