सर्जीकल वार्ड में भर्ती वृद्ध कोरोना पॉजीटिव, किया आइसोलेट

- चार दिन पूर्व पैर की टूटी हड्डी का इलाज कराने आया था अस्पताल

By: Ashok Sharma

Published: 17 Jun 2020, 10:11 PM IST


मुरैना. जिला अस्पताल के सर्जीकल वार्ड में भर्ती वृद्ध कोरोना पॉजीटिव निकला। उसकी मंगलवार को जिला अस्पताल की टू नेट मशीन से जांच करवाई तो उसमें पॉजीटिव आया है। उसका क्रॉस चेक के लिए सेंपल ग्वालियर भेजा गया है। सर्जीकल वार्ड में ३४ नंबर पलंग पर पिछले चार दिन से भर्ती था। उसका इलाज करने वाला नर्सिंग स्टाफ बेहद परेशान हैं। अगर वह ग्वालियर से पॉजीटिव आया तो नर्सिंग स्टाफ भी क्वारंटीन हो सकता है।
जानकारी के अनुसार कैलारस के कोर्ट सिरथरा का ८५ साल का पुजारी दो माह पूर्व छत से गिर गया था। उसके एक पैर की हड्डी टूट गई थी। चूंकि लॉक डाउन लगा था इसलिए उसका इलाज नहीं हो सका। उसी टूटी हड्डी का इलाज कराने १३ जून को जिला अस्पताल आया था। यहां उसको सर्जीकल वार्ड में भर्ती कर दिया। डॉ. विनोद गुप्ता द्वारा इसका इलाज किया जा रहा था। इसके पैर की हड्डी को ऑपरेशन के द्वारा जोड़ा जाना था इसके लिए अस्पताल की टू नेट मशीन से उसका टेस्ट कराया तो पॉजीटिव आया। उसको मंगलवार को ही आइसोलेशन वार्ड में ले जाया गया और उसका सेंपल क्रॉस चेक के लिए ग्वालियर भेजा गया है। जिस पलंग पर वृद्ध सो रहा था, उसके पास नर्स ने एक कागज चस्पा कर दिया है कि इस पलंग पर कोरोना पॉजीटिव लेटा था इस पर कोई लेटे नहीं। वार्ड में उसके आसपास के पलंग खाली हो गए हैं और भय का माहौल है परंतु झगड़े में घायल होकर आए लोगों के यहां जबरदस्त भीड़ हो रही है। नर्सों से विरोध किया तो उनसे बदसलूकी करने लगे। अस्पताल प्रबंधन भीड़ रोकने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रहा है।
पति, पत्नी और बच्चा पहुंचे घर
बानमोर वार्ड नंबर 14 सेवाराम आश्रम वाली गली में पिछले दिनों कोरोना बीमारी से ग्रसित तीन पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर मुरैना जिला चिकित्सालय द्वारा उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। इनमें पति पत्नी व उनका 12 वर्षीय बालक शामिल है। उनकी गली को बैरिकेड लगाकर सील कर दिया था। जिला अस्पताल द्वारा उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आने पर गली से बैरिकेडस हटाकर गली को कोरोना मुक्त कर दिया गया है।

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned