एक करोड़ का 4000 ट्रॉली रेत किया नष्ट

- भानपुर, जैतपुर और चंबल के राजघाट पर की पुलिस, वन और राजस्व ने की संयुक्त कार्रवाई

- १०९ लोगों के खिलाफ हुई एफआइआर

By: Ashok Sharma

Published: 07 Sep 2021, 10:06 PM IST

मुरैना. पुलिस, वन, राजस्व विभाग ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए भानपुर, जैतपुर और चंबल नदी के राजघाट के आसपास करीब चार हजार ट्रॉली डंप चंबल नदी के रेत को नष्ट किया गया। पांच जेसीबी मशीन सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक लगी रहीं तब रेत नष्ट हो सका।
पुलिस, वन और प्रशासनिक अधिकारियों ने अल सुबह फोर्स को एकत्रित होने के निर्देश दिए और पूरे लाव लश्कर के साथ चंबल नदी की ओर मार्च किया। वहां पहुंचकर पांच जेसीबी ने जगह जगह लगे अवैध रेत के ढेर को मिट्टी में मिलाकर नष्ट किया गया। इस कार्रवाई के दौरान सिविल लाइन, सिटी कोतवाली, सरायछोला और पुलिस लाइन का बल बड़ी संख्या में अधिकारियों के साथ मौके पर मौजूद रहा। सुबह जैसे ही पुलिस बल की एकत्रीकरण हो रहा था तभी रेत माफिया को सूचना मिल गई और वह अपने अपने टै्रक्टर ट्रॉली लेकर इधर उधर हो गए। जब अमला मौके पर पहुंचा तो एक भी टै्रक्टर ट्रॉली रेत भरते हुए नहीं मिला। रेत माफिया के मुखबिर तंत्र के सामने पुलिस का तंत्र फेल है। इसलिए पुलिस के पहुंचने से पूर्व माफिया अलर्ट हो गया। भानपुर, जैतपुर गांव चंबल नदी से नजदीक हैं, इसलिए रेत माफिया ने बारिश से पूर्व चंबल नदी से खींचकर रेत को गांव में अपने अपने खेतों में डंप कर लिया था। पुलिस व प्रशासन राजस्व अधिकारियों की मदद से पता कर रही है कि जिस जगह में रेत डंप था, वह किसके नाम हैं, उनके खिलाफ एफआइआर की जाएगी।
५३ महिला और ५६ पुरुषों के खिलाफ हुई एफआइआर ...........
सरायछोला थाना पुलिस ने १०९ लोगों के खिलाफ अवैध रूप से रेत चोरी करने का मामला दर्ज किया है। इसमें ५३ महिला और ५६ पुरुष शामिल हैं। इनमें ज्यादातर लोग भानपुर व जैतपुर गांव के रहने वाले हैं। ये वह लोग हैं जिनकी जमीन पर चंबल का रेत डंप किया गया था।
कथन
- चंबल नदी के रेत को अवैध रूप से डंप करने वालों को चिन्हित कर लिया है। जिन लोगों की जमीन पर रेत डंप था, ऐसे १०९ लोग हैं, जिनके खिलाफ एफआइआर की गई है। इनमें ५३ महिला व ५६ पुरुष हैं।
जितेन्द्र नगाइच, थाना प्रभारी, सरायछोला

Ashok Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned