बदमाश बोले सीरियस है मरीज, जल्दी चलो और ले गए डॉक्टर को

मुठभेड़ में घायल हुए 1.30 लाख के इनामी केशव डकैत के इलाज के लिए अगुवा किया था चिकित्सक को!

- झांसी में सुबह सैर पर निकले चिकित्सक को बदमाश यह कहकर लाए कि चलो एक मरीज का इलाज करना हैं

 

By: rishi jaiswal

Published: 30 Jan 2021, 08:27 PM IST

मुरैना. झांसी उप्र से अज्ञात बदमाश चिकित्सक को यह कहकर कर लाए कि किसी का इलाज करना हैं। लेकिन बाद में उनका कार से अपहरण कर मुरैना ले आए। सूत्रों से पता चला है कि डॉ. राधाकृष्ण गुरबख्शानी को झांसी से 1.30 लाख के इनामी डकैत केशव गुर्जर के इलाज के लिए लेकर आए थे। यहां बता दें कि डकैत केशव गुर्जर पिछले दिनों राजस्थान पुलिस की मुठभेड़ में गोली लगने से घायल हो गया था और वहां से मप्र की सीमा में भाग आया था। तभी से वह गोपनीय स्तर पर इलाज करा रहा है।

जानकारी के अनुसार डॉ. गुरबख्शानी उप्र झांसी के सीपरी बाजार संगम बिहार कॉलोनी में निवास करते हैं और सीपरी बाजार स्थित आर्य कन्या इंटर कॉलेज के पास उनकी क्लीनिक हैं। यह एमडी मेडिसिन होकर सीनियर चिकित्सक हैं। वह रोजाना सुबह 4:30 बजे दूध का बर्तन, टॉर्च व मोबाइल लेकर घर से निकलते थे और आठ बजे तक घर वापस पहुंच जाते थे। लेकिन शुक्रवार को सुबह घर से निकले, दूध का बर्तन लहर गिर्द स्थित डेयरी पर रखा और फिर घूमने निकल गए लेकिन दोपहर तीन बजे तक नहीं आए तो उनकी पत्नी जयश्री गुरबख्शानी ने पुलिस को सूचना की। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उनकी तलाश की लेकिन कहीं कोई सुराग नहीं मिला। उधर बदमाश डॉ. गुरबख्शानी को मुरैना सिविल लाइन थाना क्षेत्र के हिंगोना गांव के पास सरसों के खेत में ले गए। बदमाश संख्या में तीन थे। डॉक्टर के पैर सांकल से बांधकर सरसों के खेत में डाल दिया और दो बदमाश वहां से कहीं चले गए और एक बदमाश बंदूक लेकर वहां पहरा दे रहा था। पहरेदार बदमाश की अचानक आंख लग गई तभी डॉ. गुरबख्शानी ने हिम्मत का परिचय देते हुए सरसों के खेत से हाथ की कोहनी के सहारे घसीटते हुए करीब आधा किमी दूर हिंगोंना गांव के नजदीक सडक़ पर पहुंच गए। वहां किसी राहगीर की मदद से 100 डायल को फोन किया और वहां से 100 डायल डॉक्टर को सिविल लाइन थाने लेकर पहुंची। जब चिकित्सक थाने पहुंचा तो उसके पूरे कपड़े पानी से भींगे और कीचड़ से बिगड़े थे। पुलिस ने उनको दूसरे कपड़े उपलब्ध करवाए और ठंड न लगे इसलिए कंबल देकर थाना परिसर में उनको लिटाया।

डॉक्टर ने कहा, आज मांगते फिरौती

बदमाशों के चंगुल से छूटकर थाने आए डॉक्टर गुरबख्शानी ने बताया कि रोजाना की तरह मैं शुक्रवार सुबह 4:30 बजे सैर पर निकला था। 5:20 बजे मैं शिवपुरी हाइवे के डिवाइडर पर योग कर रहा था तभी तीन लोग कार से आए कि डॉक्टर साहब एक सीरियस मरीज है, उसका इलाज करना हैं। चिकित्सक ने यह सुना कि सीरियस मरीज है तो वह तुरंत कार में बैठ गए। बदमाश उनको झांसी से ग्वालियर लेकर आए। यहां उनको गन पॉइंट पर लेकर दिन भर ग्वालियर के आउटर में घुमाते रहे। शाम होते ही मुरैना के लिए चल दिए। मुरैना में शाम करीब सात बजे आए और उनको सरसों के खेत में उनके पैरों में सांकल बांध कर डाल दिया। डॉक्टर ने बताया कि बदमाश आपस में चर्चा कर रहे थे, संभवतह आज यानि शनिवार को फिरौती मांगते। डॉक्टर के अपहरण के बाद दो करोड़ की फिरौती की चर्चा भी है लेकिन परिजन व पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की हैं।

कोरोनाकाल में पुत्र को खोया फिर भी मरीजों करते रहे मरीजों की सेवा

डॉ. आर के गुरबख्शानी के दो पुत्र थे। इसमें बड़ा पुत्र अंकित 30 वर्ष की कोरोनाकाल में मृत्यु हो गई थी। कुछ दिन शोक में रहने के बाद चिकित्सक गुरबख्शानी ने कोरोनाकाल में मरीजों का उपचार किया। कोई मरीज यदि क्लीनिक में आने पर असमर्थ है, तो वह स्वयं बाहर सडक़ पर जाकर उसको चेकअप करते हैं। छोटे बेटे अक्षत ने मद्रास से बीटेक किया है। चिकित्सक के अचानक गायब होने से परिजन को बुरा हाल था लेकिन मुरैना उनको पाकर बेहद प्रसन्न हुए।

पत्नी से लिपट कर रोए चिकित्सक

बदमाशों के चंगुल से मुक्त होकर थाने पर बैठे डॉ. गुरबख्शानी ने अपनी पत्नी जय श्री गुरबख्शानी को देखा तो उनसे लिपट गए और उनकी आंखों से आंसू निकल गए। वहीं भाई से बोले आप क्यों परेशान हुए।

मौके पर मिला शराब का क्वाटर, चप्पल

बदमाशों ने जिस सरसों के खेत में डॉक्टर गुरबख्शानी को रात में रखा, वहां पर शनिवार की सुबह स्निफर डॉग को लेकर मुरैना, झांसी पुलिस परिजन के साथ पहुंची। वहां जिस सडक़ पर डॉक्टर आए थे। वहां से डॉग ने दौड़ लगाई और उस सरसों के खेत तक ले गया, जहां डॉक्टर को बांधकर डाला था। उस खेत से पुलिस को एक जोड़ी चप्पल, शराब का क्वाटर, गुटका पड़ा मिला। जिसको झांसी पुलिस जब्त कर ले गई।

झांसी उप्र से बदमाश डॉक्टर को अपहरण कर ले आए थे, उसको मुरैना में सिविल लाइन थाना क्षेत्र में छोड़ गए। झांसी में मामला दर्ज है, वहीं की पुलिस इनवेस्टीगेशन कर रही है। झांसी पुलिस आई थी डॉक्टर को ले गई है।

सुनील कुमार पांडेय, पुलिस अधीक्षक, मुरैना

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned