scriptPDS food grains could not reach all the flood victims | सभी बाढ़ पीडि़तों तक नहीं पहुंच पाया पीडीएस का खाद्यान्न | Patrika News

सभी बाढ़ पीडि़तों तक नहीं पहुंच पाया पीडीएस का खाद्यान्न

बाढ़ प्रभावित लोगों को प्रति परिवार 50 किलो मुफ्त खाद्यान्न का वितरण आपूर्ति महकमा समय पर शुरू नहीं कर पाया। अन्न उत्सव की जगह सामान्य वितरण के दौरान अधिकारियों की व्यस्तता की वजह से बाढ़ पीडि़तों को समय पर नहीं मिल पाया।

मोरेना

Published: August 14, 2021 05:32:27 pm

सभी बाढ़ पीडि़तों तक नहीं पहुंच पाया पीडीएस का खाद्यान्न
मुरैना. जिले में भर में पांच हजार 192 ऐसे लोग पहचाने गए हैं, जिन्हें बाढ़ प्रभावित होने से शासन की ओर मुफ्त खाद्यान्न दिया जाना है।
चंबल और क्वारी नदी की बाढ़ से जिले में 16 हजार से अधिक लोग प्रभावित हुए थे। इन में से करीब नौ हजार लोगों को पानी उतर जाने के बाद अपने घरों को भेज दिया गया है। लेकिन जो सात हजार के करीब लोग राहत शिविरों में रह रहे हैं, उनके लिए समाजसेवियों और प्रशासन की ओर से खाद्य सामग्री एवं अन्य जरूरी वस्तुओंं से मदद की जा रही है। लेकिन छोटे बच्चों के हिसाब से खास व्यवस्थाएं नहीं हैं। इस दौरान आपूर्ति महकमे का दावा है कि शुक्रवार से बाढ़ प्रभावित लोगों को शासन की ओर से 50 किलोग्राम के मान से मुफ्त राशन का वितरण शुरू करवा दिया गया है। हालांकि विभाग यह आंकड़ा अब भी नहीं बता पा रहा है कि कितने परिवारों को यह राशन वितरित किया जा चुका है। जबकि दावा किया जा रहा है कि कुछ परिवारों को राशन वितरित किया जा चुका है। बता दें कि बाढ़ से केवल किसानों और ग्रामीणों का राशन ही नहीं बल्कि पशुओं का चारा पहनने-ओढऩे के वस्त्र आदि भी नष्ट हो गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अब चारे की समस्या अधिक है।
नदियों से अतिरिक्त पानी बह चुका पर लोग दहशत में
तीन-चार दिन से बारिश थमी रहने से चंबल और क्वारी दोनों ही नदियों में बाढ़ का पानी बह चुका है। अब नदियां अपने मूल स्थान पर पहुंच गई हैं, लेकिन लोगों के मन में बाढ़ को लेकर दहशत का मंजर अब भी दिख रहा है। इसलिए कई जगह लोगों ने अपने लिए सुरक्षित और व्यवस्थित सरकारी जगह आवासों के लिए मांगना शुरू कर दी है। बताया गया है कि 20 अगस्त से फिर जोरदार बारिश होने वाली है, इससे नदियों में फिर जल स्तर बढ़ सकता है। यदि राजस्थान में भी बारिश हुई और कोटा बैराज व गांधी सागर डैम के गेट खोलने पड़ गए तो तो नदियों में जबरदस्त उफान फिर आ सकता है।
52.22 प्रतिशत हो पाई है बारिश
बाढ़ से भले ही जिले के हजारों लोगों को बेघर होना पड़ा हो, लेकिन जिले की इस साल की औसत वार्षिक बरसात महज 52.22 प्रतिशत ही हो पाई है। इस साल 14 अगस्त को सुबह तक 369.2 मिलीमीटर बारिश हुई है। जबकि जिले की वार्षिक औसत बरसात 706.9 मिलीमीटर है। बीते साल इसी अवधि में 52.68 प्रतिशत मिलीमीटर बारिश हुई थी। बीते साल 14 अगस्त को सुबह आठ बजे तक 372.4 मिलीमीटर बारिश हुई थी।
कथन-
बाढ़ पीडि़त पांच हजार 192 लोगों की पहचान की गई है। शासन की ओर से 50 किलो मुफ्त खाद्यान्न वितरण का काम शुक्रवार से तेज किया गया है। हालांकि कुछ लोगों को पहले भी बांटा जा चुका है, दो दिन में खाद्यान्न वितरित कर दिया जाएगा।
बीएस तोमर, जिला आपूर्ति अधिकारी, मुरैना
flood morena
-बाढ़ में विस्थापित लोगों का डेरा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.