राजस्थान के बदमाशाों ने गांव को घेरा, डेढ़ घंटे की फायरिंग

पांच दिन में तीन बार कर चुके हैं फायरिंग
- सरायछोला थाना पुलिस की कार्रवाई पर उठे सवाल

By: Ashok Sharma

Published: 29 Mar 2020, 09:07 PM IST


मुरैना. राजस्थान के बदमाशों ने रविवार की दोपहर में नत्थी सिंह का पुरा मौजा बरवासिन को घेर लिया और करीब डेढ़ घंटे तक फायरिंग की। जवाब में ग्रामीणों ने भी फायरिंग की लेकिन बदमाशों पर आधुनिक हथियार होने से ग्रामीणों को पुलिस की मदद लेनी पड़ी। सूचना मिलने पर पहले सरायछोला थाना पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन घटना स्थल देवगढ़ थाना क्षेत्र में आता है इसलिए देवगढ़ पुलिस के पहुंचने पर सरायछोला थाना पुलिस वापस हो गई। ग्रामीणों का आरोप है कि सरायछोला थाना पुलिस राजस्थान के बदमाशों से मिली हुई है इसलिए प्रोपर कार्रवाई नहीं हो रही है।
विदित हो कि पिछले पांच दिन से राजस्थान के इनामी बदमाशों को कैंथरी, तोरखेड़ा, बरवासिन सहित आसपास के आधा दर्जन गांवों में आतंक हैं। २५ मार्च की रात बदमाशों ने फायरिंग कर ग्रामीण की कार के कांच फोड़ दिए थे। २६ मार्च की सुबह तोरखेड़ा के पास फरियादी को घेर लिया और फिर से फायरिंग की। बचाव में फरियादी पक्ष ने भी फायरिंग की। २७ मार्च को बदमाशों ने फिर से फायरिंग की। फायरिंग के बाद राजस्थान के बदमाश तो इधर उधर हो गए और स्थानीय लोग जो बदमाशों के साथ थे, उनके सहित दोनों पक्ष के लोगों केा सरायछोला थाना पुलिस ने १५१ में बंद कर दिया। गा्रमीणों का आरोप है कि सरायछोला थाना पुलिस राजनैतिक दबाव में काम कर रही है इसलिए राजस्थान के बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई न करते हुए उनको संरक्षण दिया जा रहा है। बदमाशों ने रविवार की दोपहर तीन बजे बरवासिन मौजे के नत्थी सिंह का पुरा को घेर लिया। बदमाशों ने आधुनिक हथियारों से बीहड़ में छिपकर करीब डेढ़ घंटे फायरिंग की। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, उससे पहले बदमाश भाग गए।
कथन
- देवगढ़ थाना प्रभारी फोर्स के साथ मौके पर गए हैं। लौटने के बाद बताते हैं कि क्या स्थिति रही।
सुजीत सिंह भदौरिया, एसडीओपी, जौरा

Ashok Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned