रिपोर्ट में हुआ खुलासा, बर्ड फ्लू से हुई पक्षियों की मौत

पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी डॉ. बिलकेश शर्मा ने बताया नगर में संचालित जनता मांटेसरी स्कूल परिसर में तीन दिन पहले पेड़ के नीचे कुछ पक्षियों के शव मिले थे। इकहरा गांव में भी कुछ फाख्ताओं के मरने की खबर आई।

पोरसा. क्षेत्र में पक्षियों की मौत बर्ड फ्लू की वजह से ही हुई थी। इस बात का खुलासा भोपाल से आई जांच रिपोर्ट में हुआ है। क्षेत्र में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद सरकारी स्तर से उन लोगों को दवाएं भी दी गई हैं जो उन स्थानों पर गए थे, जहां पक्षियों के शव पाए गए थे।

पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी डॉ. बिलकेश शर्मा ने बताया नगर में संचालित जनता मांटेसरी स्कूल परिसर में तीन दिन पहले पेड़ के नीचे कुछ पक्षियों के शव मिले थे। इकहरा गांव में भी कुछ फाख्ताओं के मरने की खबर आई।

लिहाजा पशु चिकित्सा विभाग ने मृत पक्षियों के शव को जांच के लिए भोपाल भेजा। वहां शव परीक्षण के बाद जो रिपोर्ट आई है, उसमें कहा गया है कि पक्षियों की मौत बर्ड फ्लू की वजह से ही हुई थी। जांच रिपोर्ट के साथ वहां से टेबलेट के रूप में कुछ दवाएं भी यहां भेजी गई हैं।

इनका वितरण उन लोगों को किया जा रहा है, जो पक्षियों के मरने की घटना के बाद वहां पहुंचे थे। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि लोगों में बर्ड फ्लू के संक्रमण की आशंका न रहे। उल्लेखनीय है कि पोरसा से पहले भिण्ड के मेहगांव में बड़ी संख्या में बर्ड फ्लू से पक्षियों की मौत हुई थी।

बचाव के पुख्ता इंतजाम नहीं

मृत पक्षियों के शव परीक्षण में बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि होने के बावजूद फिलहाल बचाव के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित नहीं किए गए हैं। इस बीच पोरसा के ही सिलावली गांव में कुछ पक्षियों के मरने की खबर मिली है।

लोगों का कहना है कि यदि बर्ड फ्लू अभी सिर्फ पोरसा तक ही सीमित है, लेकिन यदि इसे रोकने के प्रयास नहीं किए गए तो यह जिले के अन्य हिस्सों में भी फैल सकता है।

rishi jaiswal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned