देवगढ़ क्षेत्र में सात दिन में सात चोरी व एक लूट

- चोर गिरोह सक्रिय, पुलिस निष्क्रीय

By:

Published: 01 Mar 2020, 03:57 PM IST


मुरैना. देवगढ़ थाना क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह में सात चोरी व एक लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है। क्षेत्र में चोर गिरोह सक्रिय है जबकि पुलिस निष्क्रीय है इसलिए चोर वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। पुलिस जांच के नाम पर सिर्फ मौका मुआयना करके बैठ गई है।
देवगढ़ थाना क्षेत्र में २२ फरवरी से २७ फरवरी तक चार गांवों में सात चोरी व एक लूट की वारदात को अंजाम दिया जा चुका है। ग्रामीणों का कहना हैं कि पुलिस रात को गश्त नहीं करती है। इस क्षेत्र के लिए सिर्फ एक ही नहर वाला रास्ता है इससे रात को कौन गुजरता और कहां जा रहा है, कोई चेक करने वाला ही नहीं हैं। थाने के सामने चेकिंग पॉइंट स्थायी रूप से लगा रहता है लेकिन चेकिंग नहीं होती।
वारदातों में राजस्थान के बदमाशों का हाथ!
देवगढ़ क्षेत्र में आए दिन हो रही ताबड़तोड़ चोरी व लूट की वारदातों में राजस्थान के बदमाशों का हाथ होना बताया जा रहा है। पूर्व में भी चंबल नदी पार से आए बदमाश वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। लेकिन स्थानीय लोगों की मुखबिरी के सहारे ही वह वारदात को अंजाम देते हैं। यहां के कुछ लोग उन बदमाशों से मिले हुए हैं।
कब कहां से हुई चोरी
- २२ फरवरी की रात को पंचमपुरा से बाबूलाल तिवारी के यहां से अज्ञात चोर पौने दो लाख का सामान चोरी कर ले गए।
- २५ फरवरी की रात को अज्ञात चोर छत्तरपुरा से लज्जाराम शर्मा के यहां से दस हजार रुपए नगद व सामान चोरी कर ले गए।
- २६ फरवरी की रात को गुढ़ाचंबल गांव से तीन घरों से अज्ञात चोर छह लाख की नगदी व जेवर समेटकर ले गए।
- २७ फरवरी को नंदपुरा गांव से दो घरों से लाखों रुपए का सामान समेटकर ले गए।
- २७ फरवरी को नंदपुरा नहर की पुलिया के पास ठहरे मधुमक्खी पालकों की मारपीट कर हजारों रुपए व सामान लूट ले गए।
कथन
- मैंने स्वयं स्पॉट देखा है और ग्रामीणों से चर्चा की है। पता चला है कि चोरी से पूर्व कुछ लोग बाइकों से आए थे। हमने कुछ लोगों की लोगों की मोबाइल लोकेशन ली है। जांच कर रहे हैं, संभवतह जल्द खुलासा हो जाएगा।
सुजीत सिंह भदौरिया, एसडीओपी, जौरा

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned