scriptThen more than two and a half dozen cows died, doctors arrived | फिर हुई ढाई दर्जन से अधिक गोवंश की मौत, पहुंचे चिकित्सक | Patrika News

फिर हुई ढाई दर्जन से अधिक गोवंश की मौत, पहुंचे चिकित्सक

- प्रथम दृष्टया रिपोर्ट में निमोनिया व पॉलीथिन खाने से हुई मौत, विसरा जांच के लिए जबलपुर लैब भेजा

मोरेना

Published: January 13, 2022 10:00:59 pm


मुरैना. गोवंश की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को भी ढाई दर्जन से अधिक गोवंश की मौत हो गई। उधर चिकित्सकों की टीम ने देवरी गोशाला पहुंचकर मृत गोवंशों में से दो का पीएम किया। उन्होंने बताया कि गोवंश की मौत प्रथम दृष्टया निमोनिया अर्थात ठंड व पॉलीथिन खाने से हुइ है और उनका विसरा जबलपुर लैब भेजा गया है। वहां रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारण सामने आ सकेंगे।
यहां बता दें कि गोशाला प्रबंधन की लापरवाही के चलते देवरी गोशाला में रोजाना गोवंश की मौत हो रही है। अभी तक दो ढाई सैकड़ा गोवंश की मौत हो चुकी है। वहीं शहर में मृत हुए गोवंश को भी देवरी गोशाला ले जाया जा रहा है। वहां उनको जमीन में दफनाया जाता है। गुरुवार को शहर से दो ट्रॉली में भरकर गोवंश ले जाया गया। एक बार में नौ और दूसरी बार में पांच मृत गोवंश को गोशाला ले जाया गया। वहीं देवरी गोशाला में १६ गोवंश की मौत हुई है। इस तरह ३० गोवंश शांत हो चुका है। चिकित्सकों ने दो गोवंश का पीएम किया। जिसमें से एक के पेट में पॉलीथिन निकली है और दूसरे की मौत ठंड से होना पाया गया।
प्रशासन विकल्प ढूंडऩे में जुटा ........
उधर जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी देवरी गोशाला का विकल्प ढूंडऩे में जुट गए हैं। यह तब जब पत्रिका ने मामले को उठाया। उससे पहले प्रशासन कुंभकर्णी निद्रा में सोया था। गुरुवार को नगर निगम आयुक्त करह आश्रम से जुड़े टेकरी मंदिर के महंत महावीर दास को लेकर देवरी गोशाला पहुंचे और उनको टेकओवर करने की बात कही।
गोसेवक एफआइआर के लिए अड़े, प्रशासन कर रहा टालमटोल ........
मुरैना देवरी गोशाला में भूख, प्यास व ठंड से लगातार हो रही गोवंश की मौत के मामले को पत्रिका ने प्रमुखता से उठाया तो गोवंश एफआइआर के लिए सिविल लाइन थाने पहुंच गया। जिम्मेदार के फंसने के डर से प्रशासन एफआइआर में टालमटोल कर रहा है लेकिन गोवंश थाने में अड़ा हुआ है। सीएसपी भी सिविल लाइन थाने पहुंच गए हैं। गोसेवकों को मनाने के लाख प्रयास किए जा रहे हैं। उनसे कहा जा रहा है कि जो जिम्मेदार हैं, उनको निलंबित कर देंगे, उनको जिम्मेदारी से हटा देंगे फिर भी गोसेवक एफआइआर के लिए थाने में अड़ा हुआ है।
देवरी गोशाला प्रभारी व जेसीबी चालक को हटाया
देवरी गौशाला के प्रबंधन को लेकर मिल रही शिकायतों के संबंध में गुरुवार को आयुक्त संजीव जैन ने गोशाला का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान गोशाला में आवश्यक सामग्री उपलब्ध होने के बाद भी उनका उपयोग नहीं करने तथा गोशाला के समुचित प्रबंधन में लापरवाही बरतने के कारण परमानन्द शर्मा प्रभारी देवरी गोशाला को तत्काल हटाया जाकर उनके स्थान पर हरेन्द्र सिह सिकरवार को देवरी गोशाला का प्रभारी नियुक्त किया गया है। वहीं जे.सी.बी. चालक संदीप की लापरवाही की शिकायत मिली है उसको हटाकर इनके स्थान पर विश्वजीत जे.सी.बी चालक की ड्यूटी लगाई गई है। यह सब एफआइआर के दबाव में कार्रवाई की जा रही है। जबकि अनियमितताओं की शिकायत तो कई दिन से मिल रही थीं।
कथन
- गोवंश का पीएम किया है। प्रथम दृष्टया उनकी मौत ठंड व पॉलीथिन खाने से हुई है। फिर भी उनका विसरा जबलपुर लैब भेजा है, वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।
डॉ. गणेश गोयनर, पशु चिकित्सक
फिर हुई ढाई दर्जन से अधिक गोवंश की मौत, पहुंचे चिकित्सक
फिर हुई ढाई दर्जन से अधिक गोवंश की मौत, पहुंचे चिकित्सक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.