scriptWater sources damaged in floods were not repaired | बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए जल स्रोतों की नहीं हुई मरम्मत | Patrika News

बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए जल स्रोतों की नहीं हुई मरम्मत

- हैडपंप भी खराब, चंबल नदी का पानी पीने को मजबूर हैं बाढ़ प्रभावित गांव के लोग

मोरेना

Updated: March 28, 2022 09:32:46 pm


मुरैना. करीब छह माह पूर्व चंबल नदी में आई बाढ़ से कई गांव के जलस्रोत नष्ट हो गए। उस समय प्रशासन व जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीणों को बड़े बड़े सपने दिखाए लेकिन उसके बाद भूल गए। जलस्रोत आज भी क्षतिग्रस्त स्थिति में हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ग्रामीणों को मजबूरन चंबल नदी से पानी लाना पड़ रहा है।
जनपद पंचायत पहाडग़ढ़ के ग्राम पंचायत तिन्दोखर के मजरा होराबरहा सहित आसपास के करीब आधा दर्जन गांवों में चंबल नदी में आई भीषण बाढ़ से कुआं क्षतिग्रस्त हो गए और हैडपंप भी खराब हो गए थे। लेकिन आज तक कोई सुनवाई नहीं हो सकी है। मजबूरन ग्रामीणों को काफी दूर स्थित चंबल नदी से पानी लाना पड़ रहा है।
यहां बता दें कि तिंदोखर पंचायत के होराबरहा, बर्रेंड पंचायत के छौआपुरा, बिरजा पुरा सहित आसपास के आधा दर्जन से अधिक गांव बाढ़ में प्रभावित रहे। बाढ़ के समय अधिकारी व जनप्रतिनिधियों ने मदद को लेकर लंबे वादे किए लेकिन बाद में भूल गए। स्थिति यह है कि बाढ़ प्रभावित गांवों के कुंआ क्षतिग्रस्त हो गए और हैडपंप भी खराब हो गए हैं। बाढ़ से पूर्व हैडपंपों की जो स्थिति थी, वह उससे अधिक खराब हो गई है। प्रशासन के साथ साथ पीएचई विभाग के जिम्मेदारों ने इन गांवों से मुंड मोड़ लिया है।
अधिकारियों ने दिया था आश्वासन
चंबल नदी का जल स्तर उतरने के बाद उसी समय मौके पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जौरा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पहाडग़ढ़, पीएचई विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। उन्होंने उस समय जांच कर यह पाया था कि वास्तविकता में कुआं सहित अन्य जल स्रोत क्षतिग्रस्त हो गए हैं इसके लिए पंचायत को आदेशित किया गया था लेकिन ग्राम पंचायत तिन्दोखर के सचिव और सरपंच द्वारा रुचि न दिखाते हुए कुआं की मरम्मत का कार्य आज दिनांक तक नहीं कराया गया है। गांव में हैंडपंप खराब, कुआं दुरस्त नहीं होने पर चंबल किनारे बसे गांव के लोगों को चंबल नदी का पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।
ग्रामीणों ने घेरी थी कलेक्टे्रट फिर भी नहीं हुई सुनवाई
चंबल नदी में आई बाढ़ से पहाडग़ढ़ जनपद के चंबल किनारे के आधा दर्जन से अधिक गांव के लोगों ने जिपं उपाध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह और जयपाल सिंह सिकरवार के नेतृत्व में १० अगस्त को कलेक्टे्रट का घेराव किया था। उस दिन अधिकारियों ने पूरी मदद का आश्वासन दिया था लेकिन आज दिनांक वहीं स्थिति पड़ी है जो बाढ़ के समय थी।
इन गांवों में भी नहीं हुआ कोई कार्य
चंबल नदी की बाढ़ में प्रभावित हुए जनपद पंचायत पहाडग़ढ़ के होराबरहा के अलावा ग्राम पंचायत चिन्नोंनी के मजरा जुगरुआपुरा, आमलीपुरा, ग्राम पंचायत बर्रेंड के मजरा छौआपुरा, बिरजापुरा, ग्राम पंचायत ब्रजगढ़ी के मजरा बीलगढ़ा, मल्लपुरा आदि गांव में भी बाढ़ से जो जल स्रोत क्षतिग्रस्त हुए, उस दिशा में कोई कार्य नहीं किया गया है।
होराबरहा पंचायत की स्थिति
- ८०० मीटर दूर चंबल नदी से पानी ला रहे हैं होराबरहा के ग्रामीण।
- ८०० के करीब आबादी है होराबरहा गांव की।
- ४०० के करीब मतदाता हैं गांव में।
- ०४ हैडपंप आज तक खराब पड़े हैं गांव के।
- ०२ कुंआ थे इनमें से एक क्षतिग्रस्त और दूसरे में पानी नहीं।
कथन
- होराबरहा में कुंआ व ट्रांसफॉर्मर चंबल नदी की बाढ़ में क्षतिग्रस्त हो गए थे। चार हैडपंप थे, वह भी खराब पड़े हैं। चंबल किनारे के आधा दर्जन गांव ऐसे हैं जो बाढ़ के बाद से ही चंबल नदी के पानी पर आश्रित हैं। बाढ़ के समय अधिकारियों ने मौका मुआयना किया था और कुआं व ट्रांसफॉर्मर को दुरस्त करने का आश्वासन दिया था लेकिन उसके बाद अधिकारी भूल गए।
सीमा जयपाल सिकरवार, जनपद सदस्य, पहाडग़ढ़
बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए जल स्रोतों की नहीं हुई मरम्मत
बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए जल स्रोतों की नहीं हुई मरम्मत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा फैसला, ज्ञानवापी सर्वे मामले को टेक ओवर करेगा बोर्डआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.