Movie Review : प्यार दोस्ती है या दोस्ती प्यार, के बीच उलझी'ऐ दिल है मुश्किल'
Bhup Singh
Publish: Oct, 29 2016 01:21:00 (IST)
Movie Review : प्यार दोस्ती है या दोस्ती प्यार, के बीच उलझी'ऐ दिल है मुश्किल'
Ae dil hai mushkil

फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' में दोस्ती और प्यार के अप्स एंड डाउन को फिल्म की कहानी में बखूबी दिखाया है...

निर्माता निर्देशक : करन जौहर 
कलाकार: रणबीर कपूर, अनुष्का शर्मा, ऐश्वर्या राय बच्चन, फवाद खान, लीसा रे, शाहरुख खान और अन्य
संगीतकार: प्रीतम
रेटिंग:

प्यार के अलग अलग रंगों को पर्दे पर उतारने में माहिर करण जौहर की नई फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' रिलीज हो गई है। रणबीर कपूर, ऐश्वर्या राय बच्चन, अनुष्का शर्मा के अभिनय से सजी इस फिल्म में फवाद खान भी अहम किरदार में है। रिलीज से पहले फवाद खान को लेकर खूब विवाद हुआ लेकिन इस में फवाद खान के साथ एक अन्य पाकिस्तानी अभिनेता इमरान अब्बास भी गेस्ट अपियरेंस में हैं। फिल्म में शाहरुख खान, लीजा हेडेन और आलिया भट्ट भी स्पेशल अपियरेंस में हैं। 

कहानी:- लंदन में गायक बनने का सपना देखने वाले अयान सेंगर (रणबीर कपूर) की मुलाकात एक नाइट क्लब में अलीजेह (अनुष्का शर्मा) से मुलाकात होती है और अयान उसे दिल दे बैठता है लेकिन खुद पहले ही अली (फवाद खान) से प्यार में धोखा खाने वाली अलीजेह इस रिश्ते को दोस्ती से आगे नहीं ले जाना चाहती है। हलांकि बाद में अली और अलीजेह की दूरियां मिटती है और दोनों शादी कर लेते जिससे अयान का दिल टूट जाता है। इसी बीच अयान की मुलाकात सबा तालियार खान (ऐश्वर्या राय बच्चन) से होती है जोकि पेशे से शायर है। सबा को अयान से प्यार हो जाता है लेकिन अयान के लिए यह रिश्ता प्यार नहीं सिर्फ जरूरत है। इस बीच अयान एक मामूली गायक से सफल गायक बन जाता है। कहानी में कई मोड़ आते हैं और अंत में क्या होता है इसे जानने के लिए आपको सिनेमाघर जाना पड़ेगा।

निर्देशन:- ऐ दिल है मुश्किल में करण जौहर ने प्यार और दोस्ती के नए रंग में पेश करने की कोशिश कि है लेकिन फिल्म में इतने ज्यादा ट्विस्ट एंड टन्र्स है कि कई बार कहानी बोझिल लगने लगती है। फिल्म में कहीं 'रॉकस्टार' की झलक मिलती है तो कहीं 'कल हो ना हो' और'लव आज कल' की। 

अभिनय:- फिल्म में रनबीर कभी चुलबुले है और कभी गंभीर लेकिन हर रंग में वह पूरे तरह रंगे नजर आए। अनुष्का भी अपने किरदार में खूब जमीं लेकिन इन दोनों सितारों पर ऐश का ग्लैमर भारी पड़ा। शानदार अभिनय के साथ बॉलीवुड में ऐश ने पहली बार इतने बोल्ड सीन्स दिए हैं। गेस्ट अपियरेंस में शाखरुख जैसे ही पर्दे पर दिखते है सिनेमा घरों में सीटियां और तालियां बजने लगती हैं। 

गीत-संगीत :- करण जौहर की फिल्मों का सबसे मजबूत पक्ष होता है इसका गीत संगीत और 'ऐ दिल है मुश्किल' भी इससे अलग नहीं है। फिल्म का संगीत प्रीतम नें दिया है और गीत लिखे हैं अमिताभ भट्टाचार्य ने। अमित मिश्रा और शिल्पा राव की आवाज में 'बुलेया' शानदार है तो एक बार फिर अरिजीत ङ्क्षसह की आवाज का जादू चला है। फिल्म का टाइटल ट्रैक'ऐ दिल है मुश्किल..'और'चन्ना मेरेया...'कानों को सूकून देते है। 

देखे या ना देखे:- अगर आप रणबीर कपूर, ऐश्वर्या राय बच्चन, अनुष्का शर्मा के प्रशंसक है तो इस फिल्म को जरूर देखे। फिल्म के गाने अच्छे है लेेकिन कहानी में जरूरत से ज्यादा मोड़ इसकी कमजोर कड़ी है। 

रेटिंग:- बतौर दर्शकों आपको 'ऐ दिल है मुश्किल' या बहुत अच्छी लगेगी या फिर बहुत बुरी। शानदार अभिनय और सुरिले गानों के लिए हमारी तरफ से इस फिल्म को पांच में से तीन स्टार (3*/5*)।