#Budget: ई-टिकट पर सर्विस चार्ज खत्म, 2020 तक मानवरहित होंगे फाटक

#Budget: ई-टिकट पर सर्विस चार्ज खत्म, 2020 तक मानवरहित होंगे फाटक
UP Budget

gaurav nauriyal | Publish: Feb, 01 2017 03:08:00 PM (IST) MP Budget

वर्ष 2017-18 के आम बजट में शामिल रेल बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ई टिकट की बुकिंग पर सर्विस चार्ज खत्म करने की घोषणा की है। इसके अलावा 2020 तक मानवरहित रेल फाटक को समाप्त करने की घोषणा की है।

रतलाम। वर्ष 2017-18 के आम बजट में शामिल रेल बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ई टिकट की बुकिंग पर सर्विस चार्ज खत्म करने की घोषणा की है। फिलहाल आईआरसीटीसी ने इसे 31 मार्च तक स्थगित किया हुआ है। इससे रतलाम मंडल को बड़ा लाभ होगा। इसके अलावा 2020 तक मानवरहित रेल फाटक को समाप्त करने की भी घोषणा की है।

पहले पढे़ ई टिकट के बारे में
अब आईआरसीटीसी के ई टिकट बुकिंग पर किसी प्रकार का सर्विस चार्ज नहीं लगेगा। दिसंबर माह से रेलवे ने इस पर लगगे वाले सर्विस चार्ज 14 प्रतिशत को स्थगित कर रखा है। ये 31 मार्च तक नहीं लगेगा। रतलाम मंडल में ही प्रतिदिन करीब 1200 से 1500 लोग ई टिकट से यात्रा करते है। इससे बड़ा लाभ ये होता हैं कि टिकट खरीदी की लाइन में नहीं लगना होता है। कैषलेस भुगतान को बढ़ावा देने के लिए रेलवे में इस सुविधा को शुरू करने की घोषणा की गई है।

2020: नहीं होंगे मानव रहित रेल फाटक
वित्त मंत्री ने एक और बड़ी घोषणा की है। इसमे आगामी तीन वर्षो में रेलवे ट्रैक पर मानव रहित रेल फाटक को बंद करने की घोषणा की है। इससे रेलवे में इस प्रकार के फाटक पर होने वाली दुर्घटना समाप्त होगी। रतलाम मंडल में करीब 55 मानव रहित रेल फाटक है। इनमे धोंसवास व माननखेड़ा फाटक पर 2016 में ही दुर्घटना हुई थी। इस प्रकार के फाटक नहीं होने पर रेलवे के साथ यात्रियों को भी लाभ होगा।

इस तरह होगा मंडल में इनसे लाभ
रतलाम मंडल के रतलाम, इंदौर, उज्जैन, इंदौर, देवास, नागदा, चित्तौडग़ढ़, दाहोद आदि शहरों में प्रतिदिन एक हजार से अधिक ई टिकट की बुकिंग व इससे ट्रेन में यात्रा होती है। इस पर करीब 14 प्रतिशत सर्विस चार्ज लगता था। अब इसको स्थायी रुप से समाप्त करने की घोषणा की गई है। इससे अब रतलमा मंडल के यात्रियों को यात्रा के लिए दिए जाने वाले भुगतान में करीब 14 प्रतिशत कम किराया देना होगा। उदाहरण के लिए अगर कही का टिकट 100 रुपए का है तो वो 114 रुपए में यात्री को मिलता था। अब ये टिकट 100 रुपए में उपलब्ध होगा। इससे यात्रियों को लाभ होगा।

दुर्घटना में आएगी कमी
मानव रहित रेल फाटक समाप्त होने से मंडल में ट्रेन दुर्घटना में कमी आएगी। रतलाम से चित्तौडग़ढ़-चंदेरिया सेक्शन में सबसे अधिक मानवरहित रेल फाटक है। इनमे से रतलाम-नामली सेक्शन व जावरा-मंदसौर सेक्शन में 2016 में ट्रेन दुर्घटना हुई थी। दोनों बार की दुर्घटना में इंजन चालक आदि को चोट आई थी। मानव रहित रेल फाटक नहीं होने से मंडल में ट्रेन दुर्घटना में कमी आएगी व सुरक्षित यात्रा का लाभ मिलेगा। 

रेलवे को होगा नुकसान
इस प्रकार सर्विस चार्ज खत्म करने से यात्रियों को लाभ होगा, लेकिन पहले से हजारों करोड़ के घाटे में चल रही रेवे को नुकसान होगा। इसका खामियाजा अंत: रेलवे कर्मचारी को उठाना पड़ता है।
- बीके गर्ग, मंडल मंत्री वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ

अब तक निराश किया
अब तक जो बजट देखा है उससे निराशा हुई है। रेलवे कर्मचारियों को लाभ हो इसके लिए कोई ठोस कदम की घोषणा नहीं हुई है।
- एसबी श्रीवास्तव, मंडल मंत्री वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाईज यूनियन
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned