बंद हो गए 500 और 1 हजार के नोट, जानिए आपके पास क्या हैं ऑप्शन

बंद हो गए 500 और 1 हजार के नोट, जानिए आपके पास क्या हैं ऑप्शन

पीएम मोदी देश को संबोधित करते हुए भारत में चल रहे 500 और 1 हजार के नोट बंद करने की बात कही। 

इंदौर। पीएम मोदी देश को संबोधित करते हुए भारत में चल रहे 500 और 1 हजार के नोट बंद करने की बात कही। मंगलवार रात 12 बजे से ही इन नोटों को बैन किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी घोषणा की कि जिनके पास 500 और 1000 रुपए के नोट हैं वो 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक बैंक और प्रमुख डाकघरों में जमा कराकर उसके बदले में वैध रमक ले सकते हैं।

यह खबर सुनते ही इंदौर शहर में सभी लोग एटीएम और पेट्रोल पंपों की तरफ रुख करने लगे। एटीएम के बाहर लंबी लंबी लाइन्स लग गई। सभी लोग पहले कल और परसों के खर्चे लायक पैसे निकालने की जुगत में दिखे। वहीं एटीएम मशीनों से केवल 100 के नोट ही लोग निकाल रहे हैं। इंदौर में भी नोट बैन की खबरों का असर देखने मिला। शाम से ही व्यापारी वर्ग 500 और 100 के नोटों को लेने में हिचकते दिखाई दिए। 

500 और 2000 हजार रुपए के नए नोट बाजार में लाने की भी तैयारी की जा चुकी है। नए नोट भी सरकार ने जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही 9 और 10 नवंबर को एटीएम भी काम नहीं करेंगे। 11 नवंबर की रात 12 बजे तक नागरिकों के लिए कुछ विशेष व्यवस्था की गई है। पीएम ने कहा कि 11 नवंबर की रात्रि 12 बजे तक रेलवे के टिकट बुकिंग काउंटर सरकारी बसों के टिकट और एयरपोर्ट्स पर भी टिकट खरीदने की छूट रहेगी। 

क्या हैं नए ऑप्शन

1. 500 और 1 हजार के पुराने नोट पोस्ट ऑफिस और बैंक में जमा करें। इसके बदले आपको नए नोट या बराबर की करंसी दी जाएगी।
2. नोट बदलने बैंक और पोस्ट ऑफिस जा रहे हैं तो अपनी आईडी प्रूफ के साथ जाएं।
3. फिलहाल यह बैंक में प्रतिदिन के हिसाब से 10,000 रुपए और 20,000 रुपए प्रति हफ्ते के हिसाब से डिपॉजिट किए जा सकेंगे। 
4. प्रतिदिन और प्रति हफ्ते जमा करने की लिमिट कुछ दिनों बाद बढ़ाई जाएगी।
5. चेक, डिमांड ड्राफ्ट, डेबिट अथवा क्रेडिट कार्ड, इलेक्ट्रॉनिक या नॉन कैश पेमेंट पर किसी तरह की रोक नहीं है।
6. 9 नवंबर और कुछ जगह पर 10 नवंबर को भी एटीएम बंद रहेंगे।

जानिए क्या रहा लोगों का रिएक्शन

नोट बंद होने की वजह से हमें परेशानी होगी। हम रातभर सफर करेंगे। ऐसे में अगर किसी ने नोट नहीं लिया तो हम क्या करेंगे। मेरे पास सभी नोट केवल पांच सौ रूपए के ही हैं। सरकार का फैसला सही है लेकिन राहत कैंसे मिलेगी यह समझ नहीं आ रहा है। मुझे केवल एसएमएस मिला है अब मैं क्या करूं समझ नहीं आ रहा है।
- सुदीप, छात्र इंदौर

- अच्छी बात है कालाधन बाहर आएगा। जिनके पास कालाधन भरा पडा है घर में वो बेकार हो जाएगा। जो अच्छा कदम है। इसका तात्कालिक कदम अच्छा है।
-जितेन्द्र, नौकरीपेशा, कोल्हापुर

जिसने पैसा जमाकर कर रखा हुआ है उसके लिए परेशानी है। गरीबों को फायदा मिलेगा। अच्छा कदम है। लेकिन अभी जरूर परेशानी बढने वाली है।
- गायत्री गृहणी

- हम फिलहाल पांच सौ रूपए के नोट ले रहे हैं लेकिन रात बारह बजे के बाद नहीं लेंगे। जो लोग सफर में हैं केवल उनसे ही पांच सौ रूपए के नोट ले रहे हैं। हमारे पास फिलहाल कन्फर्मेशन नहीं आया है। लेकिन सरकार का कदम सराहनीय है।
- उमाशंकर, ट्रेवल संचालक

- सरकार ने काम अच्छा किया है लेकिन जिनके पास अभी पांच सौ रूपए हैं उनकी परेशानी बढ चुकी है। क्योंकि उनके पास सिर्फ पांच सौ रूपए के नोट ही हैं। कालाधन रूकेगा जो अच्छा कदम है।
- आयुष द्विवेदी, बस ऑपरेटर

- हम फिलहाल 500 और 1000 के नोट ले रहे हैं। लेकिन बुधवार से नहीं लेंगे। अभी रात तक नोट लेंगे। ताकि लोगों को परेशानी ना हो। क्योंकि लोग यहां भोजन करने आते हैँ और ऐसे में जबकि नोट नहीं लिए जाएंगे तो उनकी परेशानी बढ सकती है।
- राजेश त्रिवेदी, रेस्टोरेंट संचालक
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned