DIWALI: CHINA के माल को टक्कर देंगे ये देशी आइटम!

DIWALI: CHINA के माल को टक्कर देंगे ये देशी आइटम!

फेस्टिव सीजन के लिए लोगों के पास है चाइनीज आइटम्स का देशी विकल्प, मार्केट में चाइनीज आइटम्स से ज्यादा बेहतर हैं देसी सजावटी सामान

जबलपुर। त्योहारी सीजन में अक्सर चाइनीज आइटम्स का बोलबाला होता है। होम डेकोरेशन से लेकर अन्य घरेलू सामान तक की वैरायटीज भी चाइनीज ही होती है। सिर्फ डेकोरेशन ही नहीं, बल्कि पटाखों का बड़ा बाजार भी चाइना से आए माल से ही सजता है।

सस्ता होने के चक्कर में भी कुछ समय पहले तक लोग इन्हें खरीदना पसंद कर रहे थे, लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से समस्त देशवासियों से चीन से सामानों को बायकॉट करने का मन बना लिया है। देखा जाए तो त्योहारी सीजन में भी चाइनीज के डेकोरेटिव आइटम्स की खरीदारी सबसे ज्यादा बढ़ जाती थी, लेकिन इस बार लोगों ने चाइनीज आइटम्स का देसी विकल्प खोज लिया है। मार्केट में भी चाइनीज आइटम्स की जगह देसी सजावटी सामान काफी बेहतर मिल रहे हैं।

हमारा टेराकोटा उनका केमिकल खोटा 
बंगाल और राजस्थान की पारम्परिक कला से संजोया हुआ टेराकोटा हर मामले से चाइनीज सजावटी समान से आगे है। पक्की मिट्टी बने होने के कारण यह  फ्रैंडली भी होते हैं। इसके इतर चाइनीज आइटम्स को केमिकल से और हार्मफुल रंगों से तैयार किया जाता है। 

देसी झालर के आगे फीकी एलईडी 'कॉलर'
दीवाली में एलईडी लाइट्स का डेकोरेशन सभी को पसंद आता है, लेकिन मार्केट में इस बार जो देसी खूबसूरत झालरें मिल रही हैं, वह चाइनीज प्रोडक्ट को भी मात दे रही हैं। हैंडमेड होने के कारण यह काफी सुंदर है और कीमत भी 70 रुपए से शुरू है।

हमारे खिलौनों के आगे चीनी लगेंगे रोने 
दिवाली में खिलौने सिर्फ पूजन के लिए ही नहीं, बल्कि बच्चों के एंटरटेंमेंट के लिए भी होते हैं। चाइनीज खिलौनों में कलर और चमकीले सजावटी केमिकल का उपयोग होता था, जो बच्चों के लिए नुकसानदायक है। देसी खिलौने सेफ होते हैं, क्योंकि इन्हें  पूरी तरह से मिट्टी से बनाया जाता है।

यहां नेचुरल सजावट,  वहां बस दिखावट 
त्योहारी सीजन में जितनी खूबसूरत नेचुरल सजावट होती है, वह दिखावटी प्रोडक्ट से नहीं मिलती। एेसे में इस मार्केट में होम डेकोरेशन के लिए एेसे फ्लावर्स का यूज किया जा रहा है, जो कि दो दिन तक घर को महका सकता है। इन्हें कंदिल, बंदनवार की तरह उपयोग किया जा सकता है।

देसी की गारंटी, चीनी प्रोडक्ट नो वारंटी 
इलेक्ट्रिॉनिक आइटम्स की खरीदारी भी तेज हो जाती है। देसी गैजेट्स में जहां गारंटी मिल रही है, वहीं चीनी प्रोडक्ट नो वारंटी के साथ कम कीमतों में दिए जाते हैं। चीनी आइटम्स के बहिष्कार के  बाद अब लोग देसी चीजों को ही खरीदना पसंद कर रहे हैं। 
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned