scriptCame to cast vote, now going back for employment | ‘वोट डालकर वापस चले परदेश, यहां हमें नहीं मिलता रोजगार’ | Patrika News

‘वोट डालकर वापस चले परदेश, यहां हमें नहीं मिलता रोजगार’

mp local body election 2022- जिले में मतदान के बाद ग्रामीणों के कदम महानगरों की ओर...>

दमोह

Updated: July 12, 2022 05:47:56 pm

पुष्पेंद्र तिवारी

दमोह। हम, तो वोट डालने आए थे और अब वापस बड़े शहर काम करने जा रहे हैं। क्योंकि बगैर मजदूरी कैसे बच्चों का पेट भर पाएंगे। यह बात सोमवार की शाम दिल्ली को जाने वाली ट्रेन गोंडवाना एक्सप्रेस के आने के इंतजार में बैठे जिले से पलायन करने वाले सैंकड़ों मजदूरों ने कही।

voring.png

बता दें कि त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव जिले की सभी तहसील क्षेत्रों में संपन्न हो चुका है। इस चुनाव में ऐसे वोटर्स भी हिस्सेदार बने थे, जो मतदान से पहले दिल्ली, गाजियाबाद, गुडग़ांव, गुजरात, मुबई, मथुरा सहित अन्य महानगरों में मजदूरी कर रहे थे, इन्हें प्रत्याशियों द्वारा अपने खर्चे पर वोट डालने के लिए बुलाया गया था, लेकिन मतदान होने के बाद इन्हें वापस अपना गांव छोड़कर मजदूरी करने महनगरों को जाना पड़ रहा है। पिछले दो दिनों से ग्रामीणों को भारी संख्या में महानगरों को जाता हुआ दमोह रेलवे स्टेशन पर देखा जा रहा है।

इधर जिले से घट रही दिहाड़ी मजदूरों की संख्या में स्थिरता लाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। इधर जिला पंचायत सीइओ अजय श्रीवास्तव ग्रामीणों के रोजगार के सिलसिले में महानगर जाने को पलायन नहीं मानते हैं। सीइओ के अनुसार इस समय, जो लोग रोजगार के लिए बाहर बड़े शहरों में जा रहे हैं यह डेमोक्रेसी का हिस्सा है, क्योंकि वह मतदान करने के लिए आए थे और अब वापस हो रहे हैं, जबकि कुछ दिहाड़ी मजदूरों से उनके परदेश जाने को लेकर पत्रिका ने बात की, तो उन्होंने गांव में ही रोजगार मुहैया कराए जाने वाली पंचायती योजनाओं की हकीकत को आइना दिखा दिया। बहरहाल कामकाज के सिलसिले में परदेश जा रहे मजदरों के साथ उनके मासूम बच्चे भी हैं, जो स्कूलों से विमुख हो रहे हैं।

तो क्यों जाते परदेश

दमोह जनपद की अधरोटा ग्राम पंचायत की महिला मजदूर आशा बाई ने पत्रिका को बताया कि वोट डालकर दिल्ली परिजनों के साथ जा रहीं हूं। मेरे गांव या आसपास के गांव में कोई रोजगार नहीं है, यदि रोजगार होता, तो क्यों परदेश जाते।

यहां रूककर कैसे भरेंगे बच्चों का पेट

पटेरा तहसील के पडऱी दुबे गांव निवासी रामचरण अहिरवार का कहना है कि गांव में कोई रोजगार नहीं मिलता है। एक दो दिन को काम किसी के यहां मिल भी जाए, तो बाकी दिनों में क्या करेंगे, बच्चों का पेट कौन भरेगा।

15 दिवस न मिले रोजगार, तो भत्ते का प्रावधान

जिला पंचायत सीइओ ने पत्रिका को बताया कि गांवों में लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मुहैया कराए जाने के लिए प्रमुख रूप से मनरेगा योजना है। यदि किसी मजदूर द्वारा पंचायत में आवेदन देकर काम मांगा जाता है, तो पंचायत स्तर से 15 दिवस के भीतर संबंधित मजदूर को काम देना होगा और यदि इस समयावधि में काम नहीं मिलता है, तो उस मजदूर को भत्ता दिए जाने का प्रावधान है। यदि मजदूर अधिक मजदूरी को लेकर महानगर जाता है, तो उसके लिए यह उसका मौलिक अधिकार है और मजदूर की पसंद पर यह बात निर्भर है।

आए थे वोट डालने अब जा रहे

मडिय़ादो निवासी विजय अहिरवार ने बताया कि वह अपने परिवार के सदस्यों के साथ मजदूरी करने के लिए गाजियाबाद जा रहा है। कुछ दिन पहले ही परिवार मडिय़ादो आया था और वोट डालने तक रूके रहे अब वापस मजदूरी करने जा रहे हैं।

सब कहने की बातें हैं, कोई नहीं सुनता

पत्रिका के रोजगार के सवाल पर बटियागढ़ तहसील के फतेहपुर गांव निवासी चंद्रभान अहिरवार ने बताया कि रोजगार गांव में पंचायत के जरिए मिलेगा यह सब कहने की बातें हैं, जबकि कोई नहीं सुनता है, गांव में काम ही नहीं है। काम मांगने जाओ, तो कोई यहां सुनता भी नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.