धनतेरस पर विशेष मूहुर्त में करें मंत्रों का जाप, सालभर नहीं आएगी दरिद्रता

धनतेरस पर विशेष मूहुर्त में करें मंत्रों का जाप, सालभर नहीं आएगी दरिद्रता
dhanteras 2016

पांच दिनी दीपोत्सव का आगाज कल यानी शुक्रवार से हो रहा है, पर कई ज्योतिषियों का कहना है कि 27 अक्टूबर यानी गुरुवार शाम से ही विशेष मुहूर्त शुरू हो जाएंगे, जो दीपावली तक बने रहेंगे।

भोपाल। पांच दिनी दीपोत्सव का आगाज कल यानी शुक्रवार से हो रहा है, पर कई ज्योतिषियों का कहना है कि 27 अक्टूबर यानी गुरुवार शाम से ही विशेष मुहूर्त शुरू हो जाएंगे, जो दीपावली तक बने रहेंगे। खरीदारी करते वक्त इन विशेष मुहूर्त और उनके समय का ख्याल रखेंगे तो आप पर लक्ष्मी की विशेष कृपा बरसेगी।

प्रकांड ज्योतिषाचार्य डॉ. कामेश्वर उपाध्याय ने अगले पांच दिन चलने वाले दीपोत्सव के कुछ विशेष समय बताएं हैं, जो विशेष फलदायी हैं। आइए जानते हैं इन विशेष मुहूर्त और समय को...




आज ही से करें खरीदारी
इस वर्ष धनतेरस की तिथि भले ही गुरुवार से लग रही हो, लेकिन पर्व शुक्रवार को ही मनाया जाएगा। इस बार कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी 27 अक्टूबर शाम 5.12 से 28 अक्टूबर की शाम 6.17 बजे तक रहेगी। इसके बावजूद 28 को उदयकाल में त्रयोदशी मिलने व सायंकाल में त्रयोदशी की उपलब्धता के कारण धनतेरस का पर्व शुक्रवार को ही मनाया जाएगा।


dhanteras 2016





पूजन के लिए ये समय श्रेष्ठ
पूजन के लिए गोधूलि बेला व वृष लग्न शुभकाल हैं। ऐसे में 28 अक्टूबर को गोधूलि बेला शाम 5.45 बजे शुरू हो रही है। वृष लग्न का योग होने से रात 8.30 बजे तक पूजन का शुभ मुहूर्त है। 28 अक्टूबर को धन्वंतरि पूजा व धनतेरस है, क्योंकि शुक्रवार को सूर्योदय व सूर्यास्त दोनों ही त्रयोदशी तिथि में हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned