पांच महीने में पाए गए स्वाइन फ्लू के 23 मरीज

पांच महीने में पाए गए स्वाइन फ्लू के 23 मरीज
पांच महीने में पाए गए स्वाइन फ्लू के 23 मरीज

Navneet Sharma | Updated: 27 May 2019, 05:42:07 PM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

वसई विरार: 23 मई तक पांच लोगों में पाए गए एच1एन1 वायरस के लक्षण, जिनका चल रहा उपचार
बोलिंज में बनाया गया है 10 बेड का स्पेशल वार्ड
मनपा ने किया पूरी तैयारी का दावा

विरार. पालघर जिले की वसई तालुका में स्वाइन फ्लू ने दस्तक दे दी है। चालू महीने में ही पांच लोगों में स्वाइन फ्लू के लक्षण पाए गए हैं। इन मरीजों का विजय नगर स्थित वसई विरार शहर मनपा में उपचार चल रहा है।
पिछले पांच महीनों में 23 मरीजों में स्वाइन फ्लू के लक्षण मिले हैं। यह डाटा मनपा संचालित हॉस्पिटल से मिला, जबकि जिन लोगों ने निजी हॉस्पिटल में उपचार किया, उनका कोई रिकॉर्ड मनपा के पास उपलब्ध नहीं है। मानसून के पहले इस स्वाइन फ्लू के वायरस का फैलना लोगों में चिंता का विषय है।


मनपा के स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़े के मुताबिक इस साल जनवरी से लेकर 23 मई तक कुल 23 मरीजों में स्वाइन फ्लू के लक्षण पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग मानसून के दौरान स्वाइन फ्लू के रोकथाम की तैयारी में जुटा है।
वसई विरार मनपा ने भी स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए जरूरी तैयारी का दावा किया है। स्वाइन फ्लू से प्रभावित मरीजों के उपचार के लिए बोलिंज में 10 बेड का अलग स्पेशल वार्ड बनाया गया है।


जैसे ही किसी व्यक्ति के स्वाइन फ्लू से संक्रमित होने की सूचना मिलती है, हम संक्रमित व्यक्ति के आसपास के लगभग 500 परिवारों का एक सर्वेक्षण करते हैंं। यदि हमें किसी अन्य व्यक्ति में कोई लक्ष्ण मिलते हैं तो हम उसे स्वाइन फ्लू की दवा देता हैं। यदि आवश्यक हो तो हम स्वाइन फ्लू परीक्षण के लिए रेफर करते हैं।

डॉ. तबसुम काजी, प्रमुख
वसई विरार मनपा स्वास्थ्य विभाग


2019 में अब तक 176 लोगों की मौत


पूरे महाराष्ट्र में जनवरी से 25 मई के बीच स्वाइन फ्लू के 1586 मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें से उपचार के दौरान 176 मरीजों की मौत हुई है। आर्थिक राजधानी मुंबई में भी स्वाइन फ्लू ने सात लोगों की जान ली है। स्वाइन फ्लू के वायरस का फैलाव रोकने की पूरी कोशिश की जा रही है। मुंबई सहित राज्य के अलग-अलग इलाकों में एच1एन1 वायरस की रोकथाम के लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। जिन भी इलाकों में स्वाइन फ्लू के मरीज पाए गए हैं, वहां पर जरूरी दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराई गई हैं। साथ ही स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है और सजगता अभियान चलाया जा रहा है।
डॉ. प्रदीप अवाटे,
महाराष्ट्र के सर्विलांस अधिकारी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned