दस वर्षों में 616 लोगों ने दान की किडनी

दस वर्षों में 616 लोगों ने दान की किडनी

Rohit Kumar Tiwari | Updated: 16 Aug 2019, 11:20:25 AM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

  • मुंबईकरों में बढ़ी अवयव दान के प्रति जागरूकता
  • जरूरत पर नहीं मिल पाते अंग
  • अंगों की कमी के चलते

मुंबई. पिछले 10 वर्षों की तुलना में मुंबईकरों में अवयव दान के प्रति जागरूकता बढ़ रही है। जोनल ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेशन सेंटर (जेडटीसीसी) की मानें तो पिछले 10 वर्षों में कुल 393 व्यक्तियों ने अवयव दान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है। वहीं आंकड़े 2009 से 2019 अब तक अगस्त के हैं, जिसमें 616 लोगों ने किडनी दान की। शरीर के अंगों के बढ़ते जरूरत के मद्देनजर आज भी कई जरूरतमंद मरीजों को अंग नहीं मिल पाते, जिसके चलते मरने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। वहीं इसके विपरीत दस वर्षों में कम से कम 5 लाख लोग अंगों की कमी के चलते मरे हैं।

सरहद के लिए बाप ने मौत को लगाया गले...
किसी व्यक्ति के जीवन में कई बदलाव आते हैं जब एक अंग प्रत्यारोपित होता है या एक अंग प्रत्यारोपित होता है। एक पिता के इकलौते बच्चे के साथ बीएसएफ का एक जवान स्क्लेरोजिंग हैजाटाइटिस से पीड़ित था। नतीजतन, उसका लीवर खराब हो गया था। उसके पिता ने अवयव दान किया और आज वह जवान सरहदों से भारत माता की सेवा कर रहा है। जैसे कई उदाहरण हैं...।

मुंबई के 53 दानदाता...
एक अस्पताल के वरिष्ठ डॉ. अंकुर गर्ग के अनुसार, मुंबई के अब तक (8 अगस्त 2019) 53 डोनर मिले हैं और जोनल ट्रांसप्लांट को-ऑर्डिनेशन सेंटर के मुताबिक, मुंबई ने ऑर्गन डोनेशन से तालमेल बनाए रखा है। अवयव दान के मामले में शीर्ष पांच राज्यों में महाराष्ट्र की गणना में मुंबई का महत्वपूर्ण योगदान है।

एक ब्रेनडेड बचा सकता है 8 लोगों की जान...
वहीं कई विशेषज्ञों की मानें तो एक ब्रेनडेड वाला व्यक्ति एक बार में 8 लोगों की जान बचा सकता है। बस इसके लिए अवयव दान को लेकर जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है। साथ ही, सरकार और स्वास्थ्य सेवाओं को भी इस अच्छे उद्देश्य के लिए पहल करनी चाहिए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned