कार्यकर्ताओं से बोले शाह, युति के भ्रम में ना रहें, हुई तो ठीक नहीं तो दोस्त को भी हराएंगे

लातूर में चार लोकसभा क्षेत्र की क्लस्टर बूथ स्तरीय बैठक को संबोधित करते हुए शाह ने यह बात कही...

 

By: Prateek

Published: 07 Jan 2019, 03:49 PM IST

(मुंबई): आगामी लोकसभा चुनाव में शिवसेना के साथ हाथ मिलाने को लेकर आतुर दिख रही भाजपा के सुर अब बदल गए हैं। पिछले कई दिनों से शिवसेना को मनाने में जुटी भाजपा ने अब आगे बढ़ने का फैसला किया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को युति से किनारा करने का संकेत देते हुए कहा कि हम किसी के दबाव में नहीं हैं। यदि युति हुई तो ठीक, नहीं हुई तो दोस्त को भी परास्त करेंगे। शिवसेना को सख्त जबाव देते हुए शाह ने जता दिया है कि वह दबाव में नहीं आने वाले हैं। साथ ही बिहार की तर्ज पर महाराष्ट्र में भी एनडीए सहयोगी शिवसेना को सीट बंटवारे में अब अधिक सीटें दिए जाने की संभावना पर उन्होंने विराम लगा दिया है।

 


लातूर में चार लोकसभा क्षेत्र की क्लस्टर बूथ स्तरीय बैठक को संबोधित करते हुए शाह ने यह बात कही। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को राज्य में 48 लोकसभा सीट के लिए काम पर लग जाने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि युति का विचार दिमाग से निकाल दें। यदि युति हुई तो ठीक, और नहीं हुई तो उसी अखाड़े में दोस्त को भी पटक देंगे। शाह ने कहा कि मित्र यदि साथ आएगा तो उसे भी जिताएंगे और नहीं आया तो उसी मैदान में उसे हराएंगे।

 

पूरी ताकत से काम करें कार्यकर्ता

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा राज्य की सभी 48 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी और 40 पर जीत हासिल करेगी। फडणवीस ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे सभी सीटों पर जीत सुनिश्चित करने के लिए तैयारी करें। कार्यकर्ताओं की हौसलाअफजाई करते हुए फडणवीस ने कहा कि भाजपा को किसी की जरूरत नहीं है। पार्टी कार्यकर्ता पूरी ताकत से काम करेंगे तो 2014 के मुकाबले ज्यादा सीटों पर भाजपा जीत हासिल करेगी। भाजपा अध्यक्ष यहां दो दिवसीय दौरे पर हैं। रविवार को हिंगोली, लातूर, बीड और उस्मानाबाद लोकसभा सीट के लगभग पांच हजार बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ उन्होंने बैठक की।

Amit Shah BJP
Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned