Mumbai News : देश में बन गई कोरोना रोधी वैक्सीन, जल्द शुरू होगा मानव परीक्षण

कोविड-19 की रोकथाम : आईसीएमआर ( ICMR ) और भारत बायोटेक ( Bharat BioTech ) की संयुक्त पहल, डीसीजीआई ( DCGI ) से मिली ट्रायल की अनुमति, आईसीएमआर से संबद्ध पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) ने कोरोना वायरस को आइसोलेट ( Isolate ) किया था.

By: Binod Pandey

Published: 01 Jul 2020, 05:44 PM IST

ओमसिंह राजपुरोहित
पुणे. भारत में कोरोना रोधी वैक्सीन बन गई है। जुलाई से इस वैक्सीन का मानव परीक्षण किया जाएगा। वैक्सीन के इंसानी परीक्षण के लिए दवा नियंत्रक डीसीजीआई से हरी झंडी मिल चुकी है। इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के सहयोग में यह वैक्सीन हैदराबाद आधारित भारत बायोटेक ने बनाई है। आईसीएमआर से संबद्ध पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) ने कोरोना वायरस को आइसोलेट किया था। आईसीएमआर ने आइसोलेट किए गए वायरस को वैक्सीन बनाने के लिए भारत बायोटेक को दिया था।


मिली जानकारी अनुसार भारत बायोटेक की हैदराबाद स्थित जिनोम वैली की वीएसएल-३ स्तर की लैब में यह वैक्सीन को तैयार की गई है। इसे अभी को-वैक्सीन नाम दिया गया है। इसका इंसानी ट्रांयल जुलाई के पहले सप्ताह से शुरू होगा। भारत बायोटेक पोलियो, चिकन गुनिया, रेबीज, रोटा वायरस, जापानी इंसेफलाइटिस और जीका जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए टीके बना चुकी है।

यह भी पढ़े:- India-China Tension: चीन को एक और बड़ा झटका, Highway Project में अब चीनी कंपनियां नहीं होंगी शामिल

यह भी पढ़े:- CM Arvind Kejriwal : दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में आई कमी, रिवकरी रेट 67%

Mumbai News : देश में बन गई कोरोना रोधी वैक्सीन, जल्द शुरू होगा मानव परीक्षण

हर उम्र के लोगों पर परीक्षण
मिली जानकारी अनुसार वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग उम्र के लोगों पर किया जाएगा। इस दौरान पता लगाया जाएगा कि ये वैक्सीन क्या सभी उम्र के लोगों के लिए ठीक है। यह भी पता लगाया जाएगा कि ये वैक्सीन कोरोना वायरस को बेअसर कर सकती है या नहीं। वैक्सीन के साइड इफेक्ट का भी अध्ययन किया जाएगा।

Mumbai News : देश में बन गई कोरोना रोधी वैक्सीन, जल्द शुरू होगा मानव परीक्षण

दौड़ में कई देश
कोरोनी रोधी वैक्सीन बनाने की दौड़ में कई देशों के वैज्ञानिक शामिल हैैं। अमरीका, चीन, ब्रिटेन में वैक्सीन मानवीय परीक्षण के दौर में है। भारत इनसे ज्यादा पीछे नहीं है। पुणे आधारित निजी कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिक भी वैक्सीन बनाने की कोशिश में जुटे हैं।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned