बुआ के जहरीले गिफ्ट ने भतीजे को जेल पहुंचाया

भरोसे का कत्ल: हनीमून मनाने गए थे कतर, बैग से मिली करीब 4 किलो चरस

By: Chandra Prakash sain

Published: 16 Apr 2021, 12:12 AM IST

मुंबई. शादी के बाद भतीजा अपनी बीवी के साथ हनीमून मनाने कतर गया था। बुआ के जहरीले गिफ्ट ने नवदंपती को जेल पहुंचा दिया। अदालत में बेगुनाही साबित होने के बाद यह दंपती गुरुवार तड़के भारत लौटा। रिश्तों के मिठास वाले देश में भरोसे के कत्ल की यह कोई फिल्मी कहानी नहीं है।
मुंबई निवासी ओनिबा और शारिक कुरैशी हकीकत में इसके भुक्तभोगी हैं। शादी के बाद दोनों जुलाई, 2019 में कतर गए थे। बुआ ने उपहार के नाम पर किसी को देने के लिए एक बैग दिया था। एयरपोर्ट पर जांच हुई तो बैग में चार किलो चरस मिली। मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। कतर की कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई। ड्रग तस्कर बुआ की गिरफ्तारी के बाद इनकी बेगुनाही साबित हो गई। इसके बाद कोर्ट ने इन्हें रिहा किया। जेल में ही जन्मी एक साल की बेटी के साथ वतन लौटे ओनिबा और शारिक ने केंद्र सरकार और नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) को धन्यवाद दिया। जब दोनों छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से बाहर निकले तो परिजनों से गले लग फफक-फफक कर रोने लगे।
तबस्सुम गिरफ्तार... कुरैशी के परिजनों के अनुरोध पर एनसीबी ने जांच शुरू की। चंडीगढ़ से तबस्सुम को गिरफ्तार किया। पूछताछ में तबस्सुम ने गुनाह कबूल कर लिया। यही सबूत कतर की कोर्ट में रखे गए। 29 मार्च को कोर्ट ने ओनिबा और शारिक को रिहा करने का आदेश दिया था।
बुआ ने धोखा दिया
शारिक ने बताया कि उसकी बुआ तबस्सुम कुरैशी ने गिफ्ट के नाम पर उन्हें एक बैग दिया था। बताया कि इसमें जर्दा है, जो किसी को देना है। दोनों ने उसे खोला नहीं। समद (कतर) हवाईअड्डे पर जांच में बैग से चार किलो से ज्यादा चरस मिली।

Chandra Prakash sain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned