scriptBeware of online banking, cyber burglars on mobile | ऑनलाइन बैंकिंग से सावधान, मोबाइल पर साइबर सेंधमारों की नजर | Patrika News

ऑनलाइन बैंकिंग से सावधान, मोबाइल पर साइबर सेंधमारों की नजर

आसानी से उपलब्ध सॉफ्टवेयर की मदद से मोबाइल में ताकझांक
केवाइसी अपग्रेड करने के बहाने कराते हैं ऐप डाउनलोड
खाते में जमा रकम निकलने में नहीं लगती देर

मुंबई

Published: August 14, 2021 07:58:38 pm

मुंबई. ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाजनक तो है, मगर इस्तेमाल में सावधानी बरतनी चाहिए। हमारे मोबाइल पर साइबर सेंधमारों की नजर है। शातिर दिमाग सेंधमार सॉफ्टवेयर की मदद से मोबाइल में ताकझाक करते हैं। फर्जी बैंक एक्जीक्यूटिव बन केवाइसी अपग्रेड करने के बहाने ऐप डाउनलोड करने के लिए कहते हैं। ऐप के जरिए वे फोन की स्क्रीन शेयर कर पासवर्ड, पिन, ओटीपी आदि चुरा लेते हैं। इसके बाद पलक झपकते बैंक खाते से हजारों रुपए उड़ा लेते हैं। ग्राहक की नींद तब उड़ जाती है जब खाते से पैसे कटने का संदेश मिलता है। मुंबई ही नहीं देश भर में इस तरह की शिकायतें मिली हैं। बैंक इस तरह की कोई जानकारी ग्राहकों से फोन-ईमल के जरिए नहीं मांगते। बैंकों का कहना है कि ग्राहकों को सतर्क रहने की जरूरत है। ऐप वगैरह के चक्कर में नहीं आना चाहिए। कोई दुविधा है तो बैंक से संपर्क करना चाहिए। कंफर्म होने के बाद ही आगे कदम बढ़ाना चाहिए। अफसोस यह कि बहुत कम मामले ही पुलिस सुलझा पाती है। लूट के शिकार खाताधारकों को बैंकों से भी मदद नहीं मिलती।

पहल झपकते चुरा लेते हैं पासवर्ड, पिन आदि
पहल झपकते चुरा लेते हैं पासवर्ड, पिन आदि

भरोसा कर लुटे
मायानगरी की पश्चिमी उपनगर बोरीवली के बृजेश को ही लीजिए। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उन्हें एक क्रेडिट कार्ड की जानकारी मिली। बैंक की जानकारी असली समझ उन्होंने संपर्क किया। इसके बाद केवाईसी के लिए फोन आया। एक ऐप डानलोड करने के लिए कहा गया। पैन कार्ड और आधार देखने के लिए कुछ नंबर मिले। बृजेश ने अनजाने में दे दिया। इसके बाद स्क्रीन शेयर हो गई। साइबर सेंधमार ने उन्हें बताया कि आपके कार्ड की लिमिट बढ़ गई है। कनेक्शन कटते ही बृजेश को मैसेज मिला। पता चला कि उनके खाते से 10 हजार रुपए सेंधमारों ने निकाल लिए। उन्होंने पुलिस से शिकायत की है। साइबर सेल को भी कई मामले मिले हैं।

सुविधा का दुरुपयोग
साइबर सेंधमार सुविधा का दुरुपयोग कर रहे हैं। असल में जिस ऐप को वे डाउनलोड करने के लिए कहते हैं, उसका इस्तेमाल दफ्तरों में कंप्यूटर-लैपटॉप ठीक करने के लिए किया जाता है। इसकी मदद से दूर बैठे इंजीनियर-तकनीशियन स्क्रीन शेयर कर कंप्यूटर ठीक करते हैं। यही तकनीक सेंधमार भी इस्तेमाल कर रहे हैं। देश ही नहीं विदेश में बैठे ठग हमारे मोबाइल में आसानी से ताकझाक कर रहे हैं। मौका मिलते ही धोखाधड़ी कर रहे हैं।

यह हैकिंग नहीं
आइटी पेशेवर संदीप अय्यर ने कहा कि साइबर सेंधमार पहले मोबाइल-कंप्यूटर हैक करते थे। लेकिन, स्क्रीन शेयरिंग के जरिए की जा रही धोखाधड़ी मोबाइल हैकिंग नहीं है। अपराध का यह नया तरीका है। सोशल मीडिया और ई-मेल पर लुभावने ऑफर से सावधान रहने की जरूरत है। पासवर्ड-पिन भूल कर भी नहीं देना चाहिए। कुछ भी संदेहास्पद लगे तो फौरन बैंक से संपर्क करना चाहिए।

सर्ट-इन ने किया सावधान
खतरे से हमारी सुरक्षा एजंसियां अनजान नहीं हैं। इंडियन कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पांस टीम (सर्ट-इन) ने इंटरनेट बैंकिंग को लेकर इसी हफ्ते एडवायजरी जारी की है। इसमें बताया गया है कि साइबर सेंधमार एनजीरॉक प्लेटफॉर्म पर फिशिंग वेबसाइट्स के माध्यम से हमारे बैंकिंग व्यवहार, मोबाइल नंबर और ओटीटी हासिल करने की फिराक में हैं। केवाईसी प्रक्रिया पूरी नहीं होने पर बैंक खाते बंद होने का संदेश भेजते हैं। जैसे ही ग्राहक लिंक पर क्लिक करते हैं, ठग उनके खाते से पैसे उड़ाने की कोशिश करते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Uttarakhand Election 2022: रुद्रप्रयाग में अमित शाह ने पूछा, कैसी सरकार चाहिए, विकास या भ्रष्टाचार वाली?शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानापूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM ModiCorona: गुजरात में कोरोना को मात दे चुके हैं 10 लाख से अधिक लोगकाशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.