Maha CBSE News: सीबीएसई बोर्ड को लेकर छात्रों में उत्साह, सुकून भरा रहा पहला पेपर...

सीबीएसई बोर्ड ( CBSE Board ) को लेकर छात्रों में उत्साह ( Excitement ), सुकून भरा रहा पहला पेपर, आगे 20 फरवरी से शुरू होगी अग्निपरीक्षा ( Acid test ), परीक्षा में 10वीं और 12वीं के लाखों छात्र शामिल

मुंबई. देश भर में शुरू हुई सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा का पहला पेपर छात्रों के लिए काफी सुकून भरा रहा, जबकि बोर्ड परीक्षा को लेकर अधिकतर छात्र उत्साह से लबरेज दिखे। वहीं छात्रों की माने तो असली अग्नि परीक्षा आगे 20 फरवरी से शुरू होगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षाएं 20 मार्च को और कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 30 मार्च तक आयोजित होंगी। बता दें कि इस साल बोर्ड परीक्षा में 30 लाख छात्र शामिल हुए, 10वीं के 18 लाख (18,89,878) और 12वीं के 12 लाख (12,06,893) छात्र बोर्ड परीक्षाओं में शिरकत कर रहे हैं।

खास खबर: CBSE बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा पेटर्न में ये हुआ बदलाव! पढ़ें पूरी खबर

 

छात्रों को अच्छे पेपर आने की उम्मीद...
सुबह 10 बजे शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षाओं में छात्र 9.45 तक परीक्षा केंद्रों पर पहुंच रहे हैं। जबकि पहले ही छात्रों को हिदायत दे दी गई थी कि वे अपने साथ एडमिट कार्ड लाना न भूलें, जिसके बिना किसी भी छात्र को परीक्षा की अनुमति नहीं होगी। सीबीएसई की 10वीं बोर्ड परीक्षा के लिए 5 हजार 376 केंद्रों हैं, जबकि 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए एक हजार 883 केंद्रों पर आयोजित होंगी। पवई और अन्य सीबीएसई छात्रों की माने तो पहले दिन की परीक्षा काफी अच्छी रही, जबकि असली पेपर सोमवार से शुरू होंगे और आगे के पेपर भी अच्छे आने की उम्मीद है।

CBSE Board EXAMS 2019: 10वीं-12वीं की परीक्षा का टाइम टेबल जारी, देखें डेटशीट

 

Maha CBSE News: सीबीएसई बोर्ड को लेकर छात्रों में उत्साह, सुकून भरा रहा पहला पेपर...

10वीं में 19 ट्रांसजेंडर भी शामिल...
विदित हो कि इस साल कुल 18 लाख 89 हजार 878 उम्मीदवार कक्षा 10वीं की परीक्षा दे रहे हैं, जिसमें कक्षा 7 लाख 88 हजार 195 लड़कियां और 11 लाख 01 हजार 664 लड़के, जबकि 19 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। वहीं 12वीं में 5 लाख 22 हजार 819 लड़कियां, 6 लाख 84 हजार 068 लड़के व 6 ट्रांसजेंडर हैं। सीबीएसई बोर्ड के अधिकारी का कहना है कि छात्र अगर किसी वजह से प्रैक्टिकल परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए हैं तो 2 अप्रैल, 2020 तक उन्हें परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।

 

सिर्फ एडमिट कार्ड और पेन के साथ ही जा रहे छात्र...
वहीं सीबीएसई के नए नियमों के अनुसार, परीक्षार्थियों पर कई तरह पाबंदियां भी हैं, जिन्हें ध्यान में रखना जरूरी है। परीक्षार्थी इस बार हाथ घड़ी नहीं पहन सकेंगे, जबकि इसके लिए परीक्षा केंद्र पर दीवार घड़ी लगाई गई। इसके अलावा परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले तक सेंटर में प्रवेश मिलेगा। वहीं छात्रों को पारदर्शी मोजे पहनने को कहा गया है, जबकि केंद्र पर सिर्फ एडमिट कार्ड और पेन लेकर ही छात्र पहुंचे।

 

कुछ अहम बातें...
- ऑर्ब्जवर टीम परीक्षा केंद्रों में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पकड़ने के लिए एग्जाम के दौरान औचक निरीक्षण को लेकर पहुंच रही है।
- सभी परीक्षा केंद्रों के अध्यक्षों के मोबाइल को जीरो मैपिंग से जोड़ा गया, जिसके जरिए बोर्ड के निर्देश उन तक आसानी से पहुंच रहे हैं।
- केंद्र अध्यक्ष अपनी परेशानियों को इसी के जरिए बोर्ड हैडक्वार्टर से साझा करेंगे और बोर्ड उसका निराकरण तुरंत करेगा।
- परीक्षा के समय छात्रों को होने वाली किसी भी तरह की परेशानी का पूरा ख्याल रखा जा रहा है।

 

नियमों का हो रहा पालन...
परीक्षार्थियों से आग्रह किया गया कि वे परीक्षा केंद्र पर पहुंच रहे छात्र पहले बोर्ड के निर्देशों को अच्छी तरह देख लें, ताकि केंद्र पर पहुंचकर उन्हें किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। वहीं जो नियम बोर्ड ने बनाए हैं, उनका सख्ती से पालन हो रहा है।
- संयम भारद्वाज, एग्जाम कंट्रोलर

Show More
Rohit Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned