scriptCongress angered by this decision of Uddhav government | Maharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार के इस फैसले से नाराज हुई कांग्रेस, बुलाई विधायकों की बैठक | Patrika News

Maharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार के इस फैसले से नाराज हुई कांग्रेस, बुलाई विधायकों की बैठक

महाराष्ट्र में शिवसेना की अगुवाई वाली महाविकास अघाड़ी सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले सीएम उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट बैठक बुलाई थी। इस बैठक में औरंगाबाद शहर का नाम बदलकर संभाजी नगर करने को मंजूरी दे दी है। इस फैसले को लेकर कांग्रेस नाराज है।

मुंबई

Updated: June 30, 2022 11:51:02 am

महाराष्ट्र के सियासी संग्राम में बड़ा बदलाव हुआ है। फ्लोर टेस्ट से पहले ही उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने से पहले बुधवार को उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में उद्धव सरकार ने औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर और उस्मानाबाद को धाराशिव करने का फैसला किया था। अब खबर ये सामने आ रही है कि शिवसेना के साथ खड़ी रही कांग्रेस गठबंधन के प्रमुख दल के इस फैसले से नाराज है।
nana_patole_and_uddhav_thackeray.jpg
Nana Patole and Uddhav Thackeray
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पार्टी के एक वर्ग का मानना है कि उद्धव सरकार में शामिल उनके मंत्रियों को फैसले से दूरी बनानी चाहिए थी। महाराष्ट्र में कांग्रेस के कुछ नेताओं ने केसी वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खड़गे का भी रुख किया था, लेकिन हाई कमान इस मामले में कोई दखल नहीं देना चाहता था।
यह भी पढ़ें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणा

उद्धव ठाकरे ने उस्मानाबाद का नाम बदलकर धाराशिव और नवी मुंबई हवाई अड्डे का नाम बदलकर डीबी पाटिल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भी कर दिया गया है। इस फैसले को लेकर समाजवादी पार्टी भी नाखुश है. सपा विधायक अबू आसिम आजमी ने उद्धव सरकार के औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करने के फैसले की निंदा की है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पार्टी हाई कमान को इस बात की आशंका थी कि अगर पार्टी इस फैसले का विरोध करती है, तो उसे हिंदू समुदाय की तरफ से विरोध का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई पहले भी इन स्थानों के नाम बदलने की बात का विरोध कर चुकी है।
उद्धव सरकार के इस फैसले के बाद पार्टी ने बैठक बुलाई है। जिले के नामकरण को लेकर कांग्रेस के भीतर मतभेद है। बैठक में औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने को लेकर कांग्रेस के मुस्लिम विधायक और नेता अपना विरोध दर्ज कराएंगे। इस बैठक में बालासाहेब थोराट अशोक चौहान सहित कई कांग्रेस नेता मौजूद रहेंगे।
पार्टी के एक नेता ने बताया कि उन्होंने कांग्रेस को इसमें शामिल कर लिया। हिंदुत्व को लेकर शिवसेना अच्छी नजर आना चाहती थी। अब कांग्रेस भी इस फैसले का हिस्सा बन गई है। बता दें कि साल 2018 में केंद्र सरकार ने देश के 25 शहरों और गांवों के नाम बदलने को मंजूरी दे दी है। केंद्र के इस फैसले का कांग्रेस ने खुलकर विरोध किया था। कांग्रेस ने बीजेपी आरोप लगाए थे कि बीजेपी भारत के सम्मान, पहचान, चरित्र या परिभाषा को नहीं समझती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंस्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खानाIndependence Day 2022: लाल किले पर बना नया रिकार्ड, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने दी सलामी, जानें इसके बारे मेंHar Ghar Trianga Campaign में 30 करोड़ से ज्यादा के झंडे बिके, CAIT ने बताया इतने करोड़ का हुआ कारोबारIndependence Day 2022: मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय में फहराया तिरंगा, बोले-देश को क्या दे रहे हैं यह सोचकर जीने की जरूरत38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कारसिद्धू मूसेवाला के पिता का बड़ा बयान, कहा-' जिन्होंने किया भाई होने का दावा वहीं निकले बेटे के हत्यारे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.