डॉक्टरों की सलाह बिना निजी लैब में सीधे कोरोना जांच की जा सकेगी

पहले जांच के लिए डॉक्टरों के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत थी,पर अब इसकी जरूरत नहीं है। ताकि लोग आसानी कोरोना जांच करा सकें। जांच पॉजिटिव आने पर बीएमसी के वार्ड में बने 'वॉर रुम' के माध्यम से बेड अलॉटमेंट किया जाएगा। इससे जल्द से जल्द उपचार हो पाएगा।

By: Dheeraj Singh

Published: 08 Jul 2020, 11:46 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मुंबई. कोरोना की मेडिकल जांच को लेकर बीएमसी का सुधारित आदेश लागू किया गया है। बीएमसी की ओर से मुंबई में मेडिकल जांच के लिए निजी लैबों की बढ़ती संख्या व क्षमता को देखते हुए निजी डॉक्टरों से लिखित सलाह बिना कोरोना की जांच करने की अनुमति देने का निर्णय आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने लिया। अब निजी लैबों में कोरोना की सीधे जांच की जा सकती है। निजी लैबों में जांच के लिए सरकार की ओर से निर्धारित दर लागू रहेगी।

 

गौरतलब है कि मुंबई में 17 निजी लैबों में कोरोना जांच करने की अनुमति केंद्र सरकार ने दी है। पहले जांच के लिए डॉक्टरों के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत थी,पर अब इसकी जरूरत नहीं है। ताकि लोग आसानी कोरोना जांच करा सकें। जांच पॉजिटिव आने पर बीएमसी के वार्ड में बने 'वॉर रुम' के माध्यम से बेड अलॉटमेंट किया जाएगा। इससे जल्द से जल्द उपचार हो पाएगा।
जिन निजी लैबों को अनुमति दी गई है।

1.थायरोकेयर, 2. सबर्न 3. एचएन रिलायंस, 4. मेट्रोपोलिस, 5. एसआरएल, 6. इंफ़ेक्सन, 7. कोकिलाबेन, 8. एसआर फड़के, 9. इग्नेटिक्स, 10. पीडी हिंदुजा, 11. क्वालिलाइफ डाइग्नोस्टिक 12 डॉ जरीवाला, 13. नानावटी अस्पताल, 14.सनफ्लॉवर, 15. एनएम मेडिकल, 16.जसलोक,17.लाइफ केयर डाइग्नोस्टिक



Corona virus
Show More
Dheeraj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned