Maha Corona: कोरोना वायरस: राज्य में बनेंगे 2200 परीक्षण सेंटर, जेजे अस्पताल में जल्द बनेगा आइसोलेटेड वार्ड...

हाफकिन इंस्टीट्यूट ( Hafkin Institute ) समेत पुणे में बीजे सरकारी मेडिकल कॉलेज (Medical College ) और ससून जनरल अस्पताल को लोगों की जांच की मंजूरी, कोरोना वायरस ( Corona Virus ) : राज्य में बनेंगे 2200 परीक्षण सेंटर ( Testing Center ) , जेजे अस्पताल में जल्द बनेगा आइसोलेटेड वार्ड

मुंबई. कोरोना वायरस रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए राज्य में चिकित्सा शिक्षा विभाग के माध्यम से सरकारी मेडिकल कॉलेजों और निजी केंद्रों के सहयोग से महामारी की जांच के लिए सेंटरों की संख्या 100 से बढ़ाकर 2200 को जाएगी। वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने कहा कि क्षमता में वृद्धि की जा रही है। कोरोना संदिग्धों के परीक्षण के लिए अधिक परीक्षण केंद्र उपलब्ध कराने को लेकर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने स्वास्थ्य अनुसंधान और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद विभाग को केंद्र से अनुमोदित करना होगा। इसके अलावा मुंबई में परेल में हाफकिन इंस्टीट्यूट और पुणे में बीजे सरकारी मेडिकल कॉलेज और ससून जनरल अस्पताल को कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों की जांच की मंजूरी दी गई है। साथ ही मुंबई में जेजे अस्पताल में कोरोनों के लिए अलग आइसोलेटेड वार्ड स्थापित किए जाएंगे।

पीएस चिकित्सा शिक्षा विभाग व डीएमई चिकित्सा शिक्षा विभाग को नोटिस जारी, जानिये क्यों?

केंद्र सरकार से संपर्क...
मुंबई के भायखला स्थित जेजे मेडिकल कॉलेज में इस तरह से एक परीक्षण केंद्र स्थापित किया गया है और इसे भी मंजूरी दी जाएगी। इसलिए इन तीन निरीक्षण केंद्रों से प्रतिदिन 600 नमूनों का परीक्षण संभव होगा, जबकि वर्तमान में इस तरह के परीक्षण के लिए केवल एक ही इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज, नागपुर में उप्लब्ध है। वहीं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने सरकारी अस्पताल परीक्षण केंद्रों के नवीनीकरण के साथ ही कोरोना वायरस के परीक्षण के लिए मुंबई में सात निजी प्रयोगशालाओं के अनुमोदन के संबंध में केंद्र सरकार के स्वास्थ्य अनुसंधान और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद विभाग से संपर्क किया था।

चिकित्सा शिक्षा विभाग का यह जवाब चौंका देगा आपको, जाने पूरा मामला

Maha Corona: कोरोना वायरस: राज्य में बनेंगे 2200 परीक्षण सेंटर, जेजे अस्पताल में जल्द बनेगा आइसोलेटेड वार्ड...

प्रतिदिन 100 नमूनों तक परीक्षण...
इसी तरह पीडी हिंदुजा नेशनल हॉस्पिटल और मेडिकल रिसर्च सेंटर, रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, टाटा मेमोरियल सेंटर एडवांस सेंटर फॉर ट्रीटमेंट, मेट्रोपोलिस हेल्थ केयर लिमिटेड, थायरोकेयर लेबोरेटरीज, एसआरएल डायग्नोस्टिक और रिलायंस लैबोरेटरीज जैसे निजी सेंटरों का समावेश है। इन प्रयोगशालाओं को वायरस के परीक्षण के लिए मान्यता दी गई है। इन केंद्रों में प्रतिदिन 100 नमूनों तक परीक्षण करने की क्षमता है।

Coronavirus: भारत ने पड़ोसी देशों के साथ दिखाई एकजुटता, मालदीव को भेजे चिकित्सा उपकरण

नागपुर में रोजाना 100 परीक्षण...
मौजूदा समय में नागपुर में इंदिरा गांधी सरकारी मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस का परीक्षण आयोजित हो रहा है, जो राज्य का एकमात्र केंद्र है और इसकी क्षमता 100 जांचों की है। अब मुंबई और पुणे में नए खुले परीक्षा केंद्रों पर 600 परीक्षण होंगे। वहीं निजी केंद्रों में प्रतिदिन 700 निरीक्षण होंगे। वहीं अमित देशमुख ने कहा कि राज्य के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में जल्द ही शुरू होने वाले केंद्रों से 800 कोरोनरी टेस्ट समेत प्रतिदिन कुल 2200 कोरोना वायरस के परीक्षण जल्द ही शुरू होंगे। नागपुर में सरकारी मेडिकल कॉलेज के साथ अकोला, धुले, औरंगाबाद, सोलापुर, मिराज और लातूर में विलासराव देशमुख सरकारी चिकित्सा विज्ञान संस्थान के माध्यम से परीक्षा केंद्र शुरू किए जाएंगे।

Maha Corona: वायरस : सरकारी कमरों में 55 हजार 707 बेड की व्यवस्था...

Corona virus corona virus in india
Show More
Rohit Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned