Covid-19: कोरोना ने बढ़ाई उद्धव सरकार की चिंता, जिलाधिकारियों को गोवा मॉडल अपनाने को कहा

कोरोना (Corona) की रोकथाम के लिए लॉकडाउन-3 की समय सीमा 17 अप्रेल को खत्म हो रही है। उससे पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के जिलाधिकारियों (DM) से बातचीत की। इसी बैठक में उन्होंने भाजपा (BJP) शासित गोवा (Goa) में कोरोना को काबू करने के तरीके से सबक लेने की बात कही। ठाकरे ने कहा कि जब गोवा में यह काम हो सकता तो हम महाराष्ट्र में क्यों नहीं कर सकते।

By: Basant Mourya

Published: 14 May 2020, 12:27 AM IST

मुंबई. कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thakeray) के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र (Maharashtra) की गठबंधन सरकार की चिंता बढ़ा दी है। कोरोना की रोकथाम के लिए जिलाधिकारियों (DM) के साथ बैठक में मुख्यमंत्री के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ दिख रही थीं। मुंबई, ठाणे (Thane) और पुणे (Pune) में लगभग बेकाबू कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने जिलों में गोवा मॉडल (Goa Model) अपनाने को कहा है। ठाकरे ने कहा कि घर-घर जांच कर कोरोना का फैलाव रोका जा सकता है। जो भी लोग संक्रमित पाए जाएंगे, उनका उपचार भी आसानी से किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जिन भी जिलों में कंटेनमेंट जोन हैं, वहां कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने फोकस करने पर जोर दिया। ठाकरे ने कहा कि एहतियात बरत कर हम कोरोना को कंटेनमेंट क्षेत्र से बाहर फैलने से रोक सकते हैं। उद्धव ने कहा कि घर-घर जांच करने से न सिर्फ संक्रमितों की पहचान हो सकती है बल्कि मौसमी बीमारियों से पीडि़त लोगों का उपचार भी हो सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के बीच हम राज्य की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहे हैं। बंद कारखाने चालू किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों की घर वापसी से उत्पादन गतिविधियों पर प्रतिकूल असर नहीं पडऩा चाहिए। उद्धव ने कहा कि स्थानीय लोगों को रोजगार देकर उत्पादन गतिविधियां जारी रखी जा सकती हैं।

महाराष्ट्र में लगभग 26 हजार कोरोना मरीज, अकेले मुंबई में 15 हजार 747 लोग संक्रमित
महाराष्ट्र में कोरोना के 25 हजार 922 मरीज हैं। इनमें 15 हजार 747 संक्रमित अकेले मुंबई में हैं। मुंबई, ठाणे और पुणे में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। कोरोना की रोकथाम में प्रशासन को सफलता नहीं मिल रही है। इस कारण राज्य सरकार की ङ्क्षचता बंढ़ गई है। महामारी से राज्य में 975 और मुंबई में 596 लोगों की मौत हो चुकी है।

Patrika
Show More
Basant Mourya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned