scriptDharavi residents get flats of 350 sq ft with kitchen toilet after redevelopment by Adani | Mumbai: धारावी निवासियों की बल्ले-बल्ले, अब मिलेगा 350 वर्ग फुट का फ्लैट, वो भी किचन-बाथरूम के साथ | Patrika News

Mumbai: धारावी निवासियों की बल्ले-बल्ले, अब मिलेगा 350 वर्ग फुट का फ्लैट, वो भी किचन-बाथरूम के साथ

locationमुंबईPublished: Jan 16, 2024 08:31:41 pm

Submitted by:

Dinesh Dubey

Mumbai News: विपक्ष ने धारावी पुनर्विकास परियोजना का कॉन्ट्रैक्ट रद्द करने की मांग की है।

dharavi_slum.jpg
Dharavi Slum Redevelopment
Dharavi Redevelopment Project: एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी के लोगों के लिए गुड न्यूज है। मुंबई के धारावी पुनर्विकास परियोजना को जल्द से जल्द पूरा करने का प्रयास जारी है। इस परियोजना का ठेका अडानी समूह की कंपनी को मिला है। खबर है कि कुछ ही हफ्तों में धारावी के मैपिंग का का काम शुरू हो जाएगा।
बिजनेस टाइकून गौतम अडानी के स्वामित्व वाले समूह ने 2022 के आखिरी में धारावी के पुनर्विकास का सरकारी कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया था। रिपोर्टों के अनुसार, मार्च महीने में लगभग 600 एकड़ के घने इलाके का सर्वेक्षण शुरू कर दिया जाएगा। टाइम्स ऑफ इंडिया ने मंगलवार को बताया कि धारावी में सर्वेक्षण दो हफ्ते में शुरू हो जाएगा।
यह भी पढ़ें

BBQ Nation की दाल मखनी में था मरा चूहा... 75 घंटे अस्पताल में हुआ भर्ती, यूपी के वकील का दावा

इस बीच, अडानी समूह धारावी पुनर्विकास के बाद झुग्गी-बस्ती के पात्र निवासियों को 350 वर्ग फुट के नए फ्लैट देगा। साथ ही दावा किया है कि इन फ्लैट का आकार झुग्गी पुनर्विकास परियोजनाओं के तहत प्रस्तावित आकार से 17 प्रतिशत अधिक है।
अडानी समूह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि नए फ्लैट में किचन और शौचालय होंगे। इससे पहले अनौपचारिक झुग्गियों के निवासियों को 269 वर्ग फुट के फ्लैट दिए जाते थे। लेकिन राज्य सरकार ने 2018 से 315-322 वर्ग फुट का फ्लैट देना शुरू किया।
महाराष्ट्र के विपक्षी दलों का आरोप है कि धारावी पुनर्विकास की आड़ में महाराष्ट्र सरकार अडानी समूह को फायदा पहुंचा रही है। राज्य सरकार ने समूह को बड़ी रियायतें दी है। दरअसल अडानी समूह महाराष्ट्र सरकार के सहयोग से धारावी झोपड़पट्टी का पुनर्विकास कर रहा है। महाविकास आघाडी (एमवीए) के नेताओं ने धारावी परियोजना का कॉन्ट्रैक्ट रद्द करने की मांग की है। इसके चलते धारावी परियोजना का मुद्दा गरमाया हुआ है।
मालूम हो कि महाराष्ट्र सरकार ने जुलाई में 259 हेक्टेयर की धारावी पुनर्विकास परियोजना को अडानी समूह की कंपनी अडानी प्रॉपर्टीज को सौंपा था। अडानी की कंपनी के अलावा इस ठेके के लिए रियल्टी क्षेत्र की कंपनी डीएलएफ और नमन डेवलपर्स ने भी बोली लगाई थी। लेकिन टेंडर अडानी प्रॉपर्टीज ने जीता। 20 हजार करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट में मुख्य रूप से धारावी स्लम एरिया का पुनर्निर्माण किया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो