scriptDisgruntled leaders may join AAP and BJP before BMC elections | बीएमसी चुनाव से पहले आप और भाजपा में शामिल हो सकते हैं असंतुष्ट नेता | Patrika News

बीएमसी चुनाव से पहले आप और भाजपा में शामिल हो सकते हैं असंतुष्ट नेता

जनीति: महाविकास आघाडी में खींचतान बढ़ी
एनसीपी उड़ा रही फंड रूपी मलाई-शिवसेना विधायक की पीड़ा
शिवसेना के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस नेता की याचिका

मुंबई

Published: March 29, 2022 06:30:19 pm

मुंबई. महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार में शामिल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस में खींचतान बढ़ गई है। सत्ता के साथी दल एक दूसरे की खिंचाई का मौका नहीं छोड़ रहे। शिवसेना विधायक तानाजी सावंत ने एनसीपी और कांग्रेस पर विकास निधि की मलाई उड़ाने का आरोप लगाया है। सावंत ने कहा कि एनसीपी के ग्राम पंचायत के सदस्य को एक-एक करोड़ का फंड मिलता है। उन्होंने कहा कि अगले साल के बजट में 60 प्रतिशत निधि एनसीपी व 30 प्रतिशत कांग्रेस के नेतृत्व वाले विभागों को मिली है। सरकार चला रही शिवसेना के हिस्से सिर्फ शिवथाली आई है। सावंत ने कहा कि एनसीपी-कांग्रेस के लोग हमें मुंह चिढ़ाते हैं। सांसद गजानन कीर्तिकर सहित शिवसेना के कई नेता विकास निधि के आवंटन में पक्षपात का आरोप लगा चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक सत्ताधारी गठबंधन के कई नेता अपनी-अपनी पार्टी से नाराज हैं। दावे किए जा रहे कि मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) सहित अन्य महानगर पालिकाओं के चुनाव से पहले ये नेता भाजपा या आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो सकते हैं। गोवा में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस-भाजपा के कई नेता आप का दामन थाम चुके हैं। बीएमसी चुनाव के लिए आप कमर कस चुकी है। यूपी सहित चार राज्यों में मिली जीत से भाजपा तो पंजाब में बहुमत हासिल करने वाली आप के खेमे में उत्साह है। आप नेता प्रीति मेनन ने कहा कि कई कांग्रेस नेता संपर्क में हैं। वहीं, कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री आरिफ नसीम खान ने सीधे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सुप्रीम कोर्ट में घसीटा है। खान ने 2019 के विधानसभा चुनाव में शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे पर आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है।

पवार का यू टर्न
राज्य के 300 विधायकों को मुंबई में फ्लैट देने की घोषणा पर मुख्यमंत्री ठाकरे फंस गए हैं। एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने इस पर यूटर्न ले लिया है। हवा का रुख भांपते हुए पवार ने कहा कि व्यक्तिगत रूप से मैं इसके खिलाफ हूं। कई महीने से हड़ताल कर रहे राज्य परिवहन निगम के कर्मचारियों ने इस पर सवाल उठाए हैं। विपक्ष का आरोप है कि सरकार बचाने के लिए मुख्यमंत्री विधायकों को लालच दे रहे हैं। भाजपा नेता राम कदम ने कहा कि सरकार को सेना के जवानों की विधवाओं और कोरोना काल में जान गंवाने वाले कोविड योद्धाओं के परिजनों को घर देना चाहिए।

पवार का यू टर्न
पवार का यू टर्न

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

महंगाई की मार! सरकार के इस फैसले से लगेगा तगड़ा झटका, 1 जून से महंगी हो जाएगी कार-बाइक की खरीदारीबंगाल के राज्यपाल के निशाने पर ममता बनर्जी के भतीजे, कहा - 'अभिषेक बनर्जी ने पार की लक्ष्मण रेखा'Haryana Congress Rally: पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 6 हजार रुपए देंगे वृद्धा पेंशनमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगसुप्रिया सुले पर विवादित टिप्पणी के बाद बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटील ने मांगी माफीअरविंद केजरीवाल ने कहा- हरियाणा में लाखों बच्चों का भविष्य अंधकार में, हमें मौका मिला तो बच्चे बनेंगे डॉक्टर-इंजीनियरउज्जैन की गली-गली में घूमे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शादी के कपड़े भी यहीं सिलाए, जानिए बार-बार क्यों आते थे यहांअमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.