देश को आगे बढ़ाने के लिए सबको साथ चलना होगा: भागवत

कहा कि हमारी एकता का आधार हमारी मातृभूमि और गौरवशाली परंपरा है

By: Chandra Prakash sain

Published: 07 Sep 2021, 09:34 PM IST

Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

मुंबई. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि देश को आगे बढ़ाने के लिए सभी को साथ लेकर चलना होगा। भारत की समृद्धि के लिए सबको मिल कर काम करना होगा। राष्ट्र प्रथम-राष्ट्र सर्वतोपरि विषय पर ग्लोबल स्ट्रैटिजिक पॉलिसी फाउंडेशन द्वारा आयोजित सम्मेलन में संघ प्रमुख ने ये बात कही। उन्होंने कहा कि हमारी एकता का आधार हमारी मातृभूमि और गौरवशाली परंपरा है। भारत में रहने वाले हिंदू-मुस्लिमों के पूर्वज समान हैं। हिंदू कोई जाति नहीं बल्कि प्रकृति के हर व्यक्ति के विकास, उत्थान का मार्गदर्शन करने वाली परंपरा है। यह जो मानते हैं, फिर चाहे किसी भी भाषा, पंथ, धर्म के हों, वह हिंदू है और इसी संदर्भ में हम हर भारतीय को हिंदू मानते हैं। दूसरे के मत का यहां अनादर नहीं होगा, लेकिन हमें मुस्लिम वर्चस्व की नहीं बल्कि भारत के वर्चस्व की सोच रखनी होगी। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और कश्मीर केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति ले.ज. (नि.) सय्यद अटा हुसैन ने भी सम्मेलन को संबोधित किया। संघ प्रमुख ने कहा कि इस्लाम आक्रमकों के साथ भारत आया, यही इतिहास है और उसे वैसे ही बताना जरूरी है। मुस्लिम समा के समझदार नेतृत्व को आततायी बातों का विरोध करना चाहिए। कट्टरपंथियों के समक्ष डट कर अपनी बातें रखनी होंगी। यह काम जितना जल्दी शुरू होगा, समाज का नुकसान उतना कम होगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned