scriptHow will 5G mobile service start, only 34 percent of fiber cable is la | कैसे शुरू होगी 5जी मोबाइल सेवा, केवल 34 प्रतिशत बिछा फाइबर केबल | Patrika News

कैसे शुरू होगी 5जी मोबाइल सेवा, केवल 34 प्रतिशत बिछा फाइबर केबल

कर्नाटक व गुजरात Karnataka and Gujarat में 35 प्रतिशत तो यूपी-बिहार में 30 प्रतिशत पूरा हुआ काम
मोबाइल ऑपरेटर टेस्टिंग में जुटे, स्पेक्ट्रम नीलामी spectrum auction पर कवायद जारी

मुंबई

Published: June 02, 2022 07:38:49 pm

मुंबई. भारत में 5जी मोबाइल सेवा 5G mobile की राह में बुनियादी सुविधाओं की कमी रोड़ा बन सकती है। पांचवीं पीढ़ी की संचार सेवा के लिए मोबाइल टॉवरों को ऑप्टिकल फाइबर केबल optical fiber cable (ओएफसी) से जोडऩा जरूरी है। दूरसंचार विभाद के आंकड़ों के मुताबिक देश में 23 लाख से ज्यादा मोबाइल टॉवर हैं। इनमें से फरवरी तक 7.93 लाख मोबाइल टॉवर ही ओएफसी से जोड़े गए हैं। विशेषज्ञों के अनुसार बेहतर सेवा के लिए कम से कम 70 प्रतिशत टॉवर ऑएफसी कनेक्ट होने चाहिए। दुनिया के कई देशों में 5जी सेवा शुरू की गई है। अमरीका में 75 प्रतिशत टॉवर ओएफसी कनेक्टेड हैं। चीन और जापान का औसत कमोबेस इतना ही है। मलेशिया में 80 प्रतिशत से ज्यादा तो थाईलैंड में 90 प्रतिशत से अधिक टॉवर ऑप्टिकल फाइबर से जोड़े गए हैं। जयपुर, दिल्ली, मुंबई सहित देश के 13 शहरों में इसी साल से 5जी सेवा शुरू करने की तैयारी है। इसके लिए जरूरी स्पेक्ट्रम की नीलामी आगामी कुछ महीनों में होने वाली है। नेशनल ब्राड बैंड मिशन (एनबीएम) ने 2024 तक 70 प्रतिशत टॉवरों को ओएफसी से कनेक्ट करने का लक्ष्य रखा है। बड़ा सवाल यह कि कमजोर बुनियादी सुविधा के बूते ग्राहकों को फास्ट इंटरनेट और डेटा ट्रांसफर सेवा कैसे मिलेगी। सेल्यूलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआइ) के महानिदेशक एसपी कोचर ने कहा कि पर्याप्त संख्या में मोबाइल टॉवर ओएफसी कनेक्ट होने चाहिए तभी ऊंची कीमत पर हासिल स्पेक्ट्रम का पूरा इस्तेमाल हो पाएगा।

मोबाइल ऑपरेटर टेस्टिंग में जुटे, स्पेक्ट्रम नीलामी spectrum auction पर कवायद जारी
मोबाइल ऑपरेटर टेस्टिंग में जुटे, स्पेक्ट्रम नीलामी spectrum auction पर कवायद जारी

लक्ष्य से पीछे
5जी सेवा के मद्देनजर देश भर में फाइबर ऑप्टिकल केबल बिछाए जा रहे हैं। केंद्र सरकार प्राथमिकता आधार पर यह काम कर रही है। बावजूद इसके राज्यवार आंकड़े बताते हैं कि हम लक्ष्य से पीछे हैं। जरूरी 70 प्रतिशत के मुकाबले आधे मोबाइल टॉवर्स भी ओएफसी लैस नहीं हो पाए हैं। जानकारों के मुताबिक चुनिंदा शहरों में यह सेवा भले शुरू की जा सकती है। छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों में इसे पहुंचने में वक्त लगेगा।

नौ राज्यों में एक लाख से ज्यादा टॉवर
देश में नौ ऐसे राज्य हैं, जिनमें से प्रत्येक में एक लाख से ज्यादा मोबाइल टॉवर हैं। सबसे ज्यादा टॉवर उत्तर प्रदेश में हैं। यूपी और बिहार में 30 प्रतिशत तो कर्नाटक 35 प्रतिशत काम पूरा हुआ है। गुजरात में लगभग 36 प्रतिशत जबकि तमिलनाडु में 39 फीसद टॉवर ओएफसी कनेक्ट किए गए हैं। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पूर्वोत्तर के राज्यों में एक चौथाई टॉवर ही जरूरी सुविधा से लैस किए गए हैं।

केबल बिछाने में दिक्कतें
जानकारों के मुताबिक ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। केंद्र और राज्य सरकार के बीच सहमति के बावजूद स्थानीय प्रशासन (लोकल बॉडीज) से परमिशन लेनी पड़ती है। अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग शुल्क लिए जाते हैं।

...तो लद जाएंगे स्मार्टफोन smart fone के दिन
भारत में 5जी सेवा का इंतजार हो रहा तो दुनिया के कई देश ६जी की तैयारी कर रहे हैं। चीन, अमरीका, जापान इस दिशा में काम कर रहे हैं। दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क Elon Musk की कंपनी भी इस दौड़ में शामिल है। नोकिया Nokia के सीईओ पेक्का लूंमर्क ने हाल ही में कहा कि 6जी सेवा आने बाद स्मार्टफोन के दिन लद जाएंगे। फोन और साधारण मोबाइल की तरह इन्हें भी कोई नहीं पूछेगा। 2030 तक 6जी के कमर्शियल परिचालन कीउम्मीद है।
राज्यवार आप्टिकल फाइबर की स्थिति
प्रदेश कुल टॉवर जोड़े गए प्रतिशत
उत्तर प्रदेश 2,89,326 89,058 30.8
कर्नाटक 1,47,420 52,084 35.3
गुजरात 1,40,066 50,,177 35.8
तमिलनाडु 1,58,631 62,624 39.4
महाराष्ट्र 2,40,951 82,513 34.2
राष्ट्रीय 23,768 7,93,551 34.4

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनKangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.